हरियाणा की बेटी Vinesh ने जीता भारत का दूसरा गोल्ड

0
vinesh phogat win 2nd gold medal in asian games
Photo- Vinesh Phogat

हरियाणा की बेटी और अंतराष्ट्रीय महिला पहलवान Vinesh Fogat ने जकार्ता में चल रहे एशियाई खेलों (18 ASIAN GAMES 2018) में कुश्ती में गोल्ड जीतकर देश का सीना गर्व से चौडा कर दिया। विनेश को ही नहीं देश को भी इस बात पर पूरा भरोसा था कि वो गोल्ड से कम कुछ नहीं लाएंगी। तभी तो उनके चाचा महाबीर फौगाट ने विनेश को मैच से पहले ही कह दिया था कि एक बात याद रखना बेटी गोल्ड जीती तो मिसाल बन जाएगी ओर मिलासें दी जाती है भुलायी नहीं जाती। अपने देश का झंडा सबसे ऊपर लेकर जाना है। फिर भला बेटी कैसे न झंडा ऊपर लेकर जाती। हुआ भी ऐसा ही।

 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सहित पूरा देश विनेश फोगाट की इस जीत पर उन्हें बधाई दे रहा है। इसी के साथ ही विनेश एशियाई खेलों में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बन गई हैं। विनेश ने जापान की इरी युकी को 6-2 से मात देकर गोल्ड अपने नाम किया।

 

 

आपको यकीन नहीं होगा लेकिन विनेश को आज से ही नहीं काफी पहले से ही पूरा यकीन था कि वो गोल्ड से कम कुछ भी नहीं लाएंगी। इतना आत्मविश्वास बहुत कम लोगों  में होता है। उन्ही में से विनेश एक हैं। गोल्ड कोस्ट में हाल ही में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में भी गोल्ड हासिल किया था और वहां जाने से पहले ही आयोजकों को ट्वीट कर बता दिया था कि वो आ रही हैं और गोल्ड से कम कुछ लेकर नहीं जाएंगी।

हरियाणा के छोरे लक्ष्य श्योराण ने एशियाई खेलों में देश का नाम किया रोशन

विनेश को रियो में हुए ओलंपिक खेलों में चोट लगने के कारण बहार होना पडा था। कहना गलत न होगा अगर विनेश चोटिल न होती तो ओलंपिक में भी गोल्ड से कम कुछ न लाती। फौगाट बहनों में खेल के मामले में विनेश का एक अलग ही स्थान है। दुष्यंत चौटाला ने विनेश के सम्मान में लिखा है- मुसीबतों से लड़ना सीखों तो विनेश से सीखो, बिखरकर संभलना सीखो तो विनेश से सीखो।

Leave a Reply