भाजपा की तरफ से मंत्रिमंडल विस्तार के लिए अभी तक कोई प्रस्ताव नही : नीतीश कुमार

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चल रहे तमाम कयासों को देखते हुए आज कहा है कि फिलहाल इस मसले पर अभी तक भाजपा की ओर से कोई प्रस्ताव नहीं आया है।

Updated On: Dec 15, 2020 18:36 IST

Dastak Web 1

Photo Source: Google

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चल रहे तमाम कयासों को देखते हुए आज कहा है कि फिलहाल इस मसले पर अभी तक भाजपा की ओर से कोई प्रस्ताव नहीं आया है। राज्य में मंत्रिमंडल का विस्तार भाजपा के साथ विचार विमर्श करने के बाद ही होगा। मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री समेत 14 सदस्य हैं। नियम के हिसाब से 243 सदस्यीय बिहार विधानसभा के लिए मुख्यमंत्री समेत अधिकतम 36 मंत्री हो सकते हैं।

बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर विपक्ष लगातार निशाना साध रहा है

नीतीश ने संवाददाताओं से कहा है कि फिलहाल हम अगले पांच साल के लिए अपने खाके पर ही आगे बढ़ रहे हैं। भाजपा की तरफ से मंत्रिमंडल के विस्तार को लेकर जब प्रस्ताव आएगा तभी कोई निर्णय लिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर विपक्ष लगातार निशाना साध रहा है। राज्य में भाजपा के सात मंत्री हैं और जदयू के मुख्यमंत्री समेत चार मंत्री हैं।

उल्लू का सर काट सोशल मीडिया पर फोटो डालने वाली महिला को गोली मारकर उतारा गया मौत के घाट

चर्चा तो ये भी है कि जदयू इस बात पर जोर दे रहा है कि जितने मंत्री भाजपा से हैं। उतने ही मंत्री उनकी पार्टी से भी होने चाहिए। सरकार बनने के बाद से ही मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर कयासों का सिलसिला जारी है। इधर, भाजपा के प्रवक्ता संजय ने कहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार का अधिकार मुख्यमंत्री का होता है। लेकिन बिहार में गठबंधन की सरकार है। इसलिए इसमें मंत्रिमंडल विस्तार से पहले सभी दल के नेता बैठेंगे और उसके बाद सबकी सलाह से ही सबकुछ तय हो सकेगा।

SSC CHSL 2020: आवेदन करने की बढ़ी तारीख, ऐसे जल्द करें आवेदन

ताजा खबरें