लेबर कोड्स में बदलाव और वर्किंग जर्नलिस्ट को लेकर किया गया वेबिनार का आयोजन

NUJ(I) और WJI (BMS) के संयुक्त तत्वाधान में एक अति महत्वपूर्ण वेबिनार का आयोजन किया गया जिसका विषय लेबर कॉड्स और वर्किंग जॉर्नलिस्ट एक्ट 1955 पर इसका प्रभाव था।

Updated On: Jun 6, 2020 20:18 IST

Dastak Online

वेबिनार के दौरान बातचीत करते WJI अध्यक्ष अनूप चौधरी

NUJ(I) और WJI (BMS) के संयुक्त तत्वाधान में एक अति महत्वपूर्ण वेबिनार का आयोजन किया गया जिसका विषय लेबर कॉड्स और वर्किंग जॉर्नलिस्ट एक्ट 1955 पर इसका प्रभाव था। इस वेबिनार में लेबर कॉड्स में निहित बातों को बताने के साथ-साथ इसमें हो रहे बदलाव से पत्रकारों पर इसके परोक्ष एवम अपरोक्ष प्रभाव के बारे बताया गया। यही नहीं, इसमें इलेक्ट्रॉनिक और वेब मीडिया पर इसका व्यापक प्रभाव, सभी पत्रकारों को एक जुट करने पर चर्चा की।

इस वेबिनार के प्रमुख वक्ता पवन कुमार क्षेत्रीय संगठन मंत्री भारतीय मजदूर संघ, ने लेबर कोड और वर्किंग जर्नलिस्ट एक्ट 1955 पर उसका प्रभाव विषय पर गुड़ जानकारी देते हुए लेबर कोड्स में बदलाव और वर्किंग जर्नलिस्ट के संदर्भ में होने वाले परिवर्तनो पर प्रकाश डाला। इस कार्यक्रम में NUJ(I) के अध्यक्ष मनोज मिश्रा, महा सचिव सुरेश शर्मा, पूर्व अध्यक्ष अशोक मालिक, WJI के अध्यक्ष अनूप चौधरी, महा सचिव नरेंद्र भंडारी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संजय उपाध्याय और विजय तोगा सचिव उधय कुमार मना DJA के अध्यक्ष मनोहर सिंह एवं महा सचिव अमलेश राजूके साथ देश भर के अनेकों वरिष्ठ पत्रकारों ने भाग लिया। इस कार्यक्रम के उदघाटन में NUJ(I) के रास्ट्रीय अध्यक्ष मनोज मिश्रा ने अपने सबोधन में सभी पत्रकारों को एक जुट होने पर बल दिया।

WJI के अध्यक्ष अनूप चौधरी ने सभी का स्वागत किया और श्री सुरेश शर्मा ने पत्रकारों की वर्तमान परिस्थितियों से सबों को अवगत कराया। नरेन्द्र भंडारी ने पत्रकारों की समस्याएं सुनी। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता ने अपने उद्बोधन के बाद पत्रकारों के प्रश्नों के उत्तर देते हुए सबों को एकजुट होने का अनुरोध किया। कार्यक्रम का संचालन उपाध्यक्ष संजय उपाध्याय ने की। दो घंटे के इस कार्यक्रम में वक्ताओं के उद्बोधन के बाद समस्याओं को सुना गया और समस्याओं के समाधान का प्रयास किया गया।

ताजा खबरें