CBSE 12th Exam: रद्द नहीं की जाएगी सीबीएसई की 12 वीं की परीक्षाएं! खत्म हुई हाई लेवल बैठक

सीबीएसई की 12 वीं बोर्ड की परीक्षा रद्ध नहीं की जाएंगी। ये परीक्षाएं जुलाई में ली जा सकती हैं। पिछले साल की तरह कोरोना प्रोटोकोल को इन परीक्षाओं में अपनाया जाएगा।

Updated On: May 23, 2021 17:45 IST

Dastak

Photo Source- Twitter

सीबीएसई की 12 वीं बोर्ड की परीक्षा (CBSE Class 12th Exam) रद्ध नहीं की जाएंगी। ये परीक्षाएं जुलाई में ली जा सकती हैं। पिछले साल की तरह कोरोना प्रोटोकोल को इन परीक्षाओं में अपनाया जाएगा। केंद्र और राज्यों के बीच चल रही हाई लेवल मीटिंग में ये निर्णय लिया गया है। अंग्रेजी वेबसाइट इंडिया टुडे ने अपने सुत्रों के हवालों से ये जानकारी दी है। हालाकिं मीटिंग खत्म हो गई और उसमें अधिकारिक तौर पर इस तरह का कोई भी निर्णय नहीं लिया गया है।

शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंकने ट्वीटर पर बैठक के खत्म होने पर तस्वीर साझा करते हुए सभी भागीदारों को धन्यवाद कहा। उन्होंने कहा कि मीटिंग कही सकारात्मक रही। उनका सभी राज्यों से निवेदन है कि वे अपने सुझाव 25 मई तक भेजे दें।

मुझे विश्वास है कि हम कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के संबंध में एक सहयोगात्मक निर्णय पर पहुंचने में सक्षम होंगे और अपने अंतिम निर्णय के बारे में आपको जल्द ही सूचित भी करेंगे। ताकि अभिभावकों और छात्रों के मन की अनिश्चितता को दूर किया जा सके।

उन्होंने कहा कि मैं दोहराना चाहता हूं कि छात्रों और शिक्षकों का स्वास्थय और सुरक्षा हमारे लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।

शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने परीक्षा के फोर्मेट के बारे में और सीबीएससी 12वीं परीक्षा की तारीख के बारे में विस्तृत जानकारी एक जून को देने को कहा है। 19 मुख्य विषयों की सीबीएससी बोर्ड की परीक्षा लिए जाने के सुझाव पर केंद्र को लगभग सभी राज्यों का समर्थन मिला है। अन्य विषयों के लिए आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर छात्रों को पास कर दिया जाएगा।

बैठक में इस बात पर भी विचार किया गया कि छात्रों के अपने ही स्कूल में मुख्य विषयों की एक 90 मिनट की छोटी परीक्षा आयोजित कर दी जाए। राज्यों से आने वाले हफ्तों में उनके सुझाव देने के लिए कहा गया है। उसके बाद विस्तृत जानकारी जल्द ही जारी की जाएगी।

ये निर्णय ऐसे समय लिया गया है जब 12 वीं की परीक्षाएं होगी या नहीं इसे लेकर पिछले एक महीने से असमंजस की स्थिती बनी हुई थी। देश में कोरोना मामले बढ़ने के बाद छात्र, शिक्षक और अभिभावक लगातार ट्वीटर पर 12वीं की परीक्षा रद्द कराने की मांग कर रहे थे।

12 वीं परीक्षा को लेकर रविवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में एक हाई लेवल मीटिंग का आयोजन किया गया। जिसमें शिक्षा मंत्री रमेश पोखिरियाल निशंक, महिला एंव बाल विकास मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी, सूचना एंव प्रसारण मंत्री प्रकाश जावेड़कर मुख्य रुप से मौजूद रहे। बैठक में सभी राज्यों के शिक्षा मंत्री, एजुकेशन सेकेट्री और राज्य परीक्षा बोर्डों के अध्यक्ष भी मौजूद रहे।

छात्रों को वैक्सीन लगाए बिना न ली जाएं 12 वीं बोर्ड की परीक्षा- मनीष सिसोदिया

वहीं केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने अपने ट्वीटर हैंडल पर छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों से 12 वीं की बोर्ड परिक्षाओं को लेकर अपने कीमती सुझाव देने को कहा है। उन्होंने लिखा है कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि सीबीएसई की 12 वीं परीक्षा को लेकर किसी भी अंतिम निर्णय पर पहुंचने से पहले सभी के साथ व्यापक परामर्श किया जाए।

पायलट अभिनव चौधरी की गलती क्या थी? कि उसने देश की रक्षा को अपना पेशा चुना?

ताजा खबरें