केंद्र सरकार ने मेडिकल स्टूडेंट्स को दी राहत, फिर शुरू किया दो वर्षीय पीजी डिप्लोमा कोर्स

केंद्र सरकार ने मेडिकल स्टूडेंट्स को एक बड़ी राहत दी है। दरअसल, केंद्र ने दो साल के पीजी डिप्लोमा कोर्स को एक फिर से शुरू कर दिया है।

Updated On: Aug 30, 2020 13:16 IST

Dastak Web

Photo Source: Pexels

केंद्र सरकार ने मेडिकल स्टूडेंट्स को एक बड़ी राहत दी है। दरअसल, केंद्र ने दो साल के पीजी डिप्लोमा कोर्स को एक फिर से शुरू कर दिया है। ये फैसला जिला अस्पतालों में विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी को दूर करने के लिए लिया गया है। कोविड-19 मेडिकल कॉलेज वाले तृतीय स्तर के स्वास्थ्य केंद्रों पर अतिरिक्त बोझ डालकर उन्हें विशेष को कोविड-19 के देखभाल और उपचार केंद्र बनाया जा रहा है। डिप्लोमा कोर्सेज के लिए कम से कम 100 बिस्तरों की क्षमता वाले अस्पताल राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड (एनबीई) से मान्यता प्राप्त हैं। बता दें मेडिकल पीजी डिप्लोमा कोर्स एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करने के बाद किया जाता है। इसके लिए पहले नीट-पीजी परीक्षा भी देनी पड़ती है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के तहत स्वायत्त निकाय एनबीई ने आठ विशेष क्षेत्रों में एमबीबीएस के बाद के लिए दो वर्षीय डिप्लोमा कोर्स की शुरुआत की है। इनमें एनेस्थिसियोलॉजी, ऑब्स्टेट्रिक्स एंड गायनीकोलॉजी, पीडियाट्रिक्स, फैमिली मेडिसिन, ऑप्थेल्मोलॉजी, रेडियोडायग्नोसिस, ईएनटी और टीबी एवं चेस्ट डिजीज शामिल हैं।

भारतीय चिकित्सा परिषद (एमसीआई) ने साल 2019 में मेडिकल पीजी डिप्लोमा कोर्सेज को डिग्री कोर्सेज में बदल दिया था, ताकि देश में ज्यादा से ज्यादा मेडिकल स्टाफ और डॉक्टर हो सके। वहीं, एनबीई के एक अधिकारी ने कहा ग्रामीण, अर्ध-शहरी क्षेत्रों और दूसरे तथा तीसरे स्तर के शहरों में आबादी के लिए अस्पतालों को बढ़ाना अनिवार्य है। क्योंकि इन क्षेत्रों में डॉक्टर से कमी होने के कारण आम लोगों को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ता है।

सुशांत सिंह केस: पूछताछ के दौरान CBI पर भड़कीं रिया चक्रवर्ती

साथ ही, आगे बताया कि नीति आयोग, भारतीय चिकित्सा परिषद और स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ कई परामर्शों के बाद एनबीई ने डिप्लोमा कोर्स शुरू करने के लिए खाका तैयार किया और 20 अगस्त को इसकी घोषणा कर दी। हालांकि इस कोर्स को बंद करने के बाद देश में डॉक्टर की कमी महसूस हुई थी। कोविड-19 के द्वारा देश के कई जिलों में डॉक्टर की कमी थी।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने फ्यूचर ग्रुप में खरीदी हिस्सेदारी, इतने करोड़ रुपये किए खर्च

ताजा खबरें