DU Admission 2020: ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज के लिए इतने लाख छात्रों ने किया रजिस्टर

देश में कोरोना संकट के बीच दिल्ली विश्वविद्यालय में हो रहे एडमिशन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में छात्रों द्वारा लाखों की संख्या में अप्लाई किया जा चुका है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, अंडर-ग्रेजुएट कोर्सों के लिए अब तक 1.26 लाख से अधिक छात्रों ने दिल्ली विश्वविद्यालय के एडमिशन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन किया है।

Updated On: Jun 24, 2020 11:26 IST

Dastak Web

Photo Source: Twitter

देश में कोरोना संकट के बीच दिल्ली विश्वविद्यालय में हो रहे एडमिशन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में छात्रों द्वारा लाखों की संख्या में अप्लाई किया जा चुका है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, अंडर-ग्रेजुएट कोर्सों के लिए अब तक 1.26 लाख से अधिक छात्रों ने दिल्ली विश्वविद्यालय के एडमिशन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन किया है। पोर्टल पर मौजूद डेटा के अनुसार, 24 जून सुबह 10.30 बजे तक रजिस्ट्रेशन की कुल संख्या 1 लाख 26 हजार 671 में से 37 हजार 802 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान भी कर दिया था।

एडमिशन पोेस्ट ग्रैजुएशन दिल्ली विश्वविद्यालय-

पोस्ट ग्रैजुएशन के कोर्सेज के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों की कुल संख्या अब तक 41 हजार 704 है। इसमें कुल 13 हजार 984 आवेदनकर्ताओं ने रजिस्ट्रेशन राशि का भुगतान भी कर दिया है। एम.फिल, पीएचडी में प्रवेश के लिए पोर्टल पर 5 हजार 356 उम्मीदवारों ने रजीस्ट्रेशन किया है, जिसमें से 497 उम्मीदवारों ने फीस का भुगतान भी कर दिया है।

इस साल देरी से शुरू हुई थी रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया- 

इस साल देशभर में कोरोना संकट के कारण विश्वविद्यालय के एडमिशन की डेट भी लेट से जारी की गई है। इसका एक प्रमुख कारण स्कूल में पढ़ रहे बारहवीं के बच्चों का एग्जाम का ना हो पाना। दूसरा पीजी कोर्स के लिए कॉलेजों में पढ़ रहे अतिंम वर्ष के छात्रों का रिजल्ट और एग्जाम का ना होना है।

ओपन बुक के माध्यम से होंगी परीक्षाएं- 

कई विश्वविद्यालयों ने इस समस्या से निपटने के लिए अपने स्तर पर शिक्षा मंत्रालय से राय लेकर छात्रों के हित में काम करने का काम किया है। दिल्ली विश्वविद्यालय में इस साल अतिंम वर्ष के छात्रों के एग्जाम के लिए घर से ही ओपन बुक को मंजूरी दी गई है। इसको लेकर कुछ छात्रों ने प्रोटेस्ट भी किया था लेकिन विश्वविद्यालय अपने फैसले को लेकर कायम रहा।

DU Exams 2020: ओपन बुक एग्जाम के विरोध में पुलिस ने आठ छात्रों को हिरासत में लिया

पोस्ट ग्रेजुएशन के स्तर की पढ़ाई पर छात्रों के सवालों का जवाब देने के लिए मंगलवार 23 जून को वैरिटी ने एक वेबिनार आयोजित किया। कई छात्रों ने काउंसलर से उनके बोर्ड परिणामों में देरी के बारे में पूछा जिसपर उन्हें आश्वासन दिया गया कि विश्वविद्यालय के परिणाम घोषित होने के बाद ही एडमिशन शुरू होंगे।

COVID-19 Update: कोरोना ने मारी लंबी छलांग, एक दिन में 15968 नए मामले आये सामने

ताजा खबरें