Delhi University: डीयू के इन विभागों में कर्मचारियों की कमी, ये पद भी है दस साल से खाली

डीयू (Delhi university) के अलग-अलग कोर्स में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा हो रही हैं। अगले हफ्ते से डीयू में ओपन बुक एग्जाम का आयोजन ऑफलाइन और ऑनलाइन किया जाएगा। लेकिन परिक्षाएं कराने के लिए डीयू के परीक्षा विभाग में कर्मचारियों की भारी कमी है।

Updated On: Sep 10, 2020 12:18 IST

Dastak Web Team

Photo Source: Twitter

आईएएनएस| डीयू (Delhi university) के अलग-अलग कोर्स में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा हो रही हैं। अगले हफ्ते से डीयू में ओपन बुक एग्जाम का आयोजन ऑफलाइन और ऑनलाइन किया जाएगा। लेकिन परिक्षाएं कराने के लिए डीयू के परीक्षा विभाग में कर्मचारियों की भारी कमी है। इसके साथ ही डिग्री विभाग में भी कई पद खाली पड़े हैं। हालांकि, इन परीक्षाओं के बाद दिल्ली टीचर्स एसोसिएशन ने इन पदों पर भर्तियों की मांग उठाई है।

अधीर चौधरी को बनाया गया पश्चिम बंगाल का नया कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष

दिल्ली टीचर्स एसोसिएशन के मुताबिक, डीयू के परीक्षा व डिग्री जैसे महत्वपूर्ण विभागों में कर्मचारियों की कमी है। इसके समेत विश्वविद्यालय में 1768 महत्वपूर्ण पदों को नहीं भरा जा सका है। दिल्ली यूनिवर्सिटी में सैकड़ों शैक्षिणक पद विभिन्न कॉलेजों में पिछले दस सालों से खाली पड़े हैं। गैर शैक्षिणक पदों पर भी नियुक्तियां होनी है।

विश्वविद्यालय में कुलपति के बाद रजिस्ट्रार (कुलसचिव) का पद बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। वह भी फरवरी 2020 से खाली पड़ा है। दिल्ली टीचर्स एसोसिएशन की माने तो इस पद को भरने के लिए विज्ञापन दिया जा चुका है और इंटरव्यू की तारीख भी सुनिश्चित हो चुकी है।

MP 10th, 12th Supplementary Exam: इस दिन से शुरू हो रही परीक्षा, यहां देखें डेट शीट

2014 से इन पदों की भर्ती के लिए नहीं हुआ कोई टेस्ट

दिल्ली यूनिवर्सिटी की एकेडेमिक कांउन्सिल के पूर्व सदस्य प्रोफेसर हंसराज ने कहा, दिल्ली यूनिवर्सिटी के विभागों में लगभग एक दर्जन सहायक कुलसचिव (असिस्टेंट रजिस्ट्रार) के आंतरिक कोटे के अंदर (इन्टर्नल कोटा) पद खाली पड़े हुए हैं। इन पदों पर 2014 के बाद से कोई टेस्ट नहीं हुआ है। इसी तरह से डिप्टी रजिस्ट्रार और ज्वाइंट रजिस्ट्रार के 9 पद भी अरसे से खाली है। इसमें एक असिस्टेंट रजिस्ट्रार डेपुटेशन पर और एक दूसरी जगह नौकर कर रहे हैं, बाकी एक कर्मचारी ने खुद अपने आप रिजाइन कर दिया था और रिटायर हो चुके हैं। इसके अलावा एक कर्मचारी दूसरी यूनिवर्सिटी में बड़े पद पर नौकरी कर रहे हैं। यहां उन्हें प्रमोशन नहीं मिल रहा है।

गौरतलब है कि दिल्ली विश्वविद्यालय में शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए अंडर ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट, पीएचडी और एमफिल पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षाएं शुरू हो गई हैं। ये परीक्षाएं नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की ओर से आयोजित की जा रही हैं।इन परीक्षा के लिए देशभर के 24 शहरों में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय की यह परीक्षाएं तीन अलग अलग शिफ्ट में आयोजित की जा रही हैं। यह प्रवेश परीक्षाएं 11 सितंबर तक ली जाएंगी।

रवि कालरा ने सड़क पर बेसहारों को देखकर गुस्से में शुरु की थी संस्था

ताजा खबरें