DU Exams 2020: ओपन बुक एग्जाम के विरोध में पुलिस ने आठ छात्रों को हिरासत में लिया

दिल्ली विश्वविद्यालय (DU) आर्ट्स फैकल्टी के बाहर खुली किताब परीक्षा (DU Open Book Exam 2020) आयोजित करने के प्रशासन के फैसले के खिलाफ सोमवार को कुछ शिक्षकों के साथ आठ छात्रों को हिरासत में लिया गया।

Updated On: Jun 23, 2020 13:23 IST

Dastak Web

Photo Source: Google

दिल्ली विश्वविद्यालय (DU) आर्ट्स फैकल्टी के बाहर खुली किताब परीक्षा (DU Open Book Exam 2020) आयोजित करने के प्रशासन के फैसले के खिलाफ सोमवार को कुछ शिक्षकों के साथ आठ छात्रों को हिरासत में लिया गया। पहले उन सभी लोगों को मौरिस नगर पुलिस स्टेशन में ले जाया गया और बाद में जल्द ही उन्हें रिहा भी कर दिया गया। बता दें कि दिल्ली यूनिवर्सिटी फाइनल ईयर के छात्रों के लिए ओपन बुक एग्जाम जुलाई में आयोजित करने वाली है, जिसको लेकर छात्र और शिक्षक विरोध कर रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि आठ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया और बाद में रिहा कर दिया गया। लगभग 10 प्रदर्शनकारियों का समूह आर्ट्स फैकल्टी के बाहर इकट्ठा हुआ था। वे डीयू ऑनलाइन परीक्षा के विरोध में कार्ड बोर्ड लेकर आए थे जिस पर लिखा था 'से नो टू ऑनलाइन एग्जाम' और 'डीयू अगैंस्ट ओपन बुक एग्जाम।'

खबरों के अनुसार लेफ्ट विचारधारा से संबधित छात्र पार्टी ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (AISA) के अध्यक्ष प्रसेनजीत कुमार ने कहा कि छात्रों और शिक्षकों को हिरासत में लिया गया था, लेकिन एक अंडरटेकिंग फॉर्म पर हस्ताक्षर किए जाने के बाद रिहा कर दिया गया, जिसमें कहा गया है कि वे शहर में दंड प्रक्रिया संहिता (CrPC) की धारा 144 के तहत लगाए गए प्रतिबंधात्मक आदेशों का उल्लंघन नहीं करेंगे।

जुलाई से शुरू होंगी डीयू ओपन बुक एग्जाम-

देश में कहर बरसा रहे कोरोना वायरस के चलते दिल्ली विश्वविद्यालय ने घोषणा की है कि इस वर्ष अंतिम सेमेस्टर के छात्रों के लिए परीक्षाएं ओपन बुक फॉर्मेट में आयोजित की जाएंगी। जहां कम से कम इंटरनेट का इस्तेमाल किया जाए। डीयू की परीक्षाएं एक जुलाई से शुरू होने वाली है और प्रत्येक परीक्षा के लिए डेटशीट डीयू की आधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड की जा सकती है। वहीं, ऑफ़लाइन या पारंपरिक परीक्षाएं ना होने के कारण और लॉकडाउन प्रतिबंध के चलते यह निर्णय लिया गया है ताकि संक्रमण के जोखिम को फैलने से रोका जा सके।

MP College Exams 2020: सीएम ने रद्द की अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट की परीक्षाएं

हालांकि, दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र ओपन बुक परीक्षा के संचालन के खिलाफ बहुत मुखर रहे हैं। कई छात्रों को लगता है कि ऐसी परीक्षाओं का मूल्यांकन उचित नहीं होगा और कुछ छात्र जो बिना स्थिर इंटरनेट कनेक्शन के रहते हैं, उन्हें अपनी उत्तर पुस्तिका अपलोड करने में काफी परेशानी होगी। इसलिए छात्र इसका विरोध कर रहे हैं और इसे छात्रों के भेदभाव पूर्ण बता रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर में सीआरपीएफ का एक जवान शहीद, दो आतंकवादी मारे गए

ताजा खबरें