Delhi University Admission: सीबीएसई मेरिट बेस पर दाखिला देगी डीयू, राज्य बोर्डों के फैसले का भी इंतजार

Delhi University के अनुसार सीबीएसई 12वीं का रिजल्ट देने के लिए जो भी तरीका अपनाएगा वो उसके आधार पर रिजल्ट भी देगा। हम रिजल्ट के आधार पर अपनी कट-ऑफ जारी कर देंगे।

Updated On: Jun 2, 2021 17:06 IST

Dastak

Photo Source: Google

केंद्र सरकार द्वारा 12 वीं सीबीएसई की परीक्षाओं को रद्द करने के बाद कुछ राज्य सरकारें भी इस फॉर्म्युले को अपना सकती हैं और राज्य बोर्डों की 12 वीं परीक्षाओं को भी रद्द किए जाने की घोषणा की जा सकती है। 12 वीं की परीक्षा पर फैसले के बाद अब सभी का ध्यान कॉलेजों मे होने वाले एडमिशनों पर है। देश की लगभग सभी यूनिवर्सिटियां छात्रों को दाखिला 12वीं के रिजल्ट के आधार पर ही देती थी। इसी के साथ देश की बडी यूनिवर्सिटियों में से एक दिल्ली यूनिवर्सिटी इस बार छात्रों को मेरिट बेस पर ही दाखिला देगी।

दिल्ली यूनिवर्सिटी (डीयू) ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया है कि उन्होंने मेरिट के बेस पर दाखिला देने का फैसला मौजूदा कोरोना हालातों को देखते हुए लिया है। हम भारत सरकार के साथ हैं। हमारा एडमिशन का मानदंड मेरिट पर आधारित होगा। हम बोर्ड की क्राइटिरिया के साथ हैं। डीयू के अनुसार सीबीएसई 12वीं का रिजल्ट देने के लिए जो भी तरीका अपनाएगा वो उसके आधार पर रिजल्ट भी देगा। हम रिजल्ट के आधार पर अपनी कट-ऑफ जारी कर देंगे।

हर साल डीयू अपने बहुत से कोर्सो में कट-ऑफ के माध्यम से प्रवेश छात्रों को देता है जो 12 वीं के रिजल्ट पर आधारित होती है। इससे पहले दिल्ली यूनिवर्सिटी विश्वद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) को भेज चुकी है। जिसके अनुसार 50 प्रतिशत वेटेज कक्षा 12 वीं के अंको और बाकी को सीयूसीईटी (सेंट्रल यूनिवर्सिटीज कॉमन एंट्रेंस टेस्ट) को दिया जा सकता है।

हालांकि कोरोना महमारी की मौजूदा स्थिति को देखते हुए और तीसरी लहर आने की संभावना के साथ डीयू के अधिकारियों ने कहा है कि वो इस साल सीयूसीईटी परीक्षा इस साल हो पाने की संभावना नहीं है। इसलिए कट-ऑफ जारी करते समय सीबीएसई के द्वारा अपनाए गए मानदंडों का ही पालन किया जाएगा।

Poco M3 Pro 5G भारत में 8 जून को होगा लॉन्च, जानें इसकी Specifications

वहीं कुछ राज्य बोर्डों ने अभी 12 वीं की परिक्षा पर फैसला नहीं लिया है, ऐसे में डीयू उम्मीद कर रही है कि वो भी सीबीएसई वाला तरीका ही अपनाएंगे, जिससे उन्हें भी आसानी होगी। कुछ राज्य बोर्डों के रिजल्ट अगस्त तक आएंगे इसलिए डीयू भी अपने एडमिशन प्रोसेस को पीछे हटाने के पक्ष में है।

ताजा खबरें