IIT-Madras ने पेश किया ऑनलाइन कोर्स- सर्टिफिकेट, डिप्लॉमा और डिग्री सहित मिले तीन विक्लप

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मद्रास आपको बहुत सारे एंट्री और एग्जिट के विकल्पों के साथ ऑनलाइन स्नातक की डिग्री हासिल करने का अवसर प्रदान करेगा।

Updated On: Jul 1, 2020 10:41 IST

Dastak

Photo Source- Google

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मद्रास (IIT-Madras) देश का ऐसा पहला आईआईटी बन गया है जो आपको बहुत सारे एंट्री और एग्जिट के विकल्पों के साथ ऑनलाइन स्नातक की डिग्री(online bachelor’s degree) हासिल करने का अवसर प्रदान करेगा। आईआईटी मद्रास की तरफ से संस्थान के निदेशक भास्कर राममूर्ति(Bhaskar Ramamurthy) ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि पढ़ाई का ऑनलाइन स्वरुप बेहतर पहुंच प्रदान करता है। ये आपको वो कोर्स ऑनलाइन करने का मौका देगा जिनकी डिमांड इंडस्ट्री में काफी है और जो इस तरह दूरस्थ रूप से पेश किए जा सकते थे।

ये है तीन स्टेप वाला ग्रेजुएशन मॉडल-

तीन स्टेप वाले ग्रेजुएशन मॉडल के तहत डेटा साइंस में बीएससी की डिग्री ली जा सकती है। जिसमें एक फाउंडेशन कोर्स होगा, एक साल पढ़ने के बाद सर्टिफिकेट मिल जाएगा। एक साल से तीन साल तक पढ़ने के बाद डिप्लोमा सर्टिफिकेट भी मिल जाएगा। तीन साल से छह साल के ऑनलाईन कोर्स में आप डिग्री भी हासिल कर सकते हैं। लोग डिप्लोमा के स्तर से भी कोर्स शुरु कर सकते हैं। हर लेवल के बाद छात्र आईआईटी मद्रास को छोड सकता है।

छात्र अब एक साथ कर सकते हैं दो कोर्स-

यह पाठ्यक्रम इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि आईआईटी मद्रास आपको एक समय में दो अलग अलग डिग्री करने अवसर भी प्रदान करता है। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने आईआईटी मद्रास में एक कार्यक्रम के दौरान इस पाठ्यक्रम की घोषणा करते हुए कहा कि जो छात्र भारत में कहीं भी कोई अन्य कोर्स किसी कैंपस से कर रहे हैं वो इस पाठ्यक्रम में एडमिशन ले सकते हैं। उन्हें इसके लिए वो कोर्स बीच में छोडने की जरुरत नहीं होगी। वो एक समय में दो डिग्री ले सकते हैं।

तेजी से बढ़ता सेक्टर है डाटा साइंस-

डाटा साइंस एक तेजी से आगे बढ़ता हुआ सेक्टर है। एक अनुमान के मुताबिक 2026 तक इस क्षेत्र में 11.5 मिलयन जॉब पैदा हो जाएगी। ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली भी बडे स्तर पर बेहतर और उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा का बेहतर विकल्प बनती जा रही है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने एक अलग बयान में कहा कि आईआईटी मद्रास के शिक्षकों ने ये बेहतर ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली की पेशकश की है। इससे शिक्षा भी तेजी से आगे बढ़ेगी और सस्ती शिक्षा का ये मॉडल अन्य संस्थान भी अपनाएंगे।

एयरक्राफ्ट की सुरक्षा पर सवाल उठाने वाले कैप्टन गौरव तनेजा को एयरएशिया इंडिया ने दिखाया बाहर का रास्ता

ताजा खबरें