Coronavirus: अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर लगी रोक को इस तारीख तक बढ़ाया गया

कोरोना वायरस महामारी के प्रसार को रोकन के लिए शुक्रवार 26 जून को अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर लगी रोक को बढ़ा दिया गया है। इससे 15 जुलाई तक किसी भी अंतर्राष्ट्रीय उड़ान को इजाजत नही दी जाएगी। इसी के साथ ही DGCA ने यह भी साफ कर दिया है कि ना ही कोई उड़ान भारत से बाहर जाएगी और ना ही कोई उड़ान बाहर से भारत में आएगी।

Updated On: Jun 26, 2020 18:55 IST

Dastak Online

Photo Source: Wikimedia Commons

कोरोना वायरस महामारी के प्रसार को रोकन के लिए शुक्रवार 26 जून को अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर लगी रोक को बढ़ा दिया गया है। इससे 15 जुलाई तक किसी भी अंतर्राष्ट्रीय उड़ान को इजाजत नही दी जाएगी। इसी के साथ ही DGCA ने यह भी साफ कर दिया है कि ना ही कोई उड़ान भारत से बाहर जाएगी और ना ही कोई उड़ान बाहर से भारत में आएगी। एक आधिकारिक बयान में DGCA ने ट्वीट करके जानकारी दी कि पहले से ही 30 जून को लिए निलंबित सभी उड़ानों की तारीख को 15 जुलाई किया जाता है। इसके लिए आधिकारिक स्तर पर भारत से और भारत के लिए सभी उड़ाने 15 जुलाई रात 12 बजकर 59 मीनट तक के लिए निलंबित रहेंगी।

इसी के साथ यह भी जानकारी दी गई की स्पेसल केसों के लिए सरकार द्वारा अनुमति मिलने पर उड़ानों को उड़ाया जा सकेगा। 20 जून को केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा था कि अंतरराष्ट्रीय उड़ान संचालन अन्य देशों द्वारा अपने हवाई क्षेत्र या सीमाओं को खोलने के बाद ही शुरू होगी। साथ ही उन्होंने कहा कि कोई भी सुझाव जो अंतर्राष्ट्रीय उड़ान ट्रैफ़िक ने दिया है वो उड़ोनों के ना खोलने से संबंधित है।

अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को फिर से शुरू करने के लिए उड़ान का सही समय प्राप्त करने के लिए अन्य देशों पर निर्भर होना होता है। इसके लिए जब तक अन्य देशों से सुझाव नहीं मिल जाते तब तक उड़ानों को मजूरी देना मुश्किल होगा। इसी के साथ आपातकाल और राहत कार्य से जुड़ी उड़ानों को सरकार की मंजूरी के साथ उड़ाया जाएगा।

गुरुग्राम में फिर से खुल सकेंगे शॉपिंग मॉल्स, हरियाणा सरकार ने दी यह जानकारी

देशभर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। देश में अब तक कुल 4 लाख 90 हजार 401 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से कुल 15 हजार 301 लोगों की मौत भी हो चुकी है। देश के लिए राहत की बात यह है कि कोरोना से पॉजिटिव होने वालों की संख्या इस बीमारी से ठीक होने वाले लोगों की संख्या से कम है। देश में कोरोना रिकवरी रेट अब 57 फीसदी से भी ज्यादा है।

चीन ने ज़मीन नहीं हथियाई, तो हमारे जवान कैसे हुए शहीद- कांग्रेस

ताजा खबरें