परीक्षाओं में तनाव को रखें खुद से दूर, आज से करे यह काम

परीक्षा आते ही बच्चों को तनाव महसूस होने लगता है, बच्चे अक्सर सिलेबस को लेकर चिंतित हो जाते हैं। बेशक उनकी तैयारी पूरी हो पर फिर भी मन में परीक्षाओं को लेकर घबराहट बनी रहती है पर इन कुछ बातों पर अगर पहले से ही ध्यान दे दिया जाए तो बेफिक्र होकर परीक्षा दी जा सकती है।

Updated On: Jan 4, 2023 16:05 IST

Dastak Web Team

Photo Source - Google

किरण शर्मा

स्कूल और कॉलेज में बिताए गए समय को जिंदगी के सुनहरे पल कहा जाता है, इन दिनों जिंदगी खुद को विकसित करने और मौज मस्ती से भरपूर होती है। हर व्यक्ति को अपने जीवन के इन पलों से बहुत कुछ सीखने को मिलता है वहीं इन दिनों में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण परीक्षा के दिन होते हैं। परीक्षा का समय आते ही कोई भी बच्चा चाहे वह होशियार हो या पढ़ाई में कम रुचि रखने वाला हो, उसे परीक्षा के समय तनाव होने लगता है। कभी-कभी यह इतना बढ़ जाता है कि बच्चों को स्वास्थ्य संबंधित परेशानी का भी सामना करना पड़ता है। बच्चे का मन चिड़चिड़ा हो जाता है और वह नकारात्मक और उदास रहने लगता है पर मन में यदि विश्वास हो तो बड़ी से बड़ी चट्टान को भी हिलाया जा सकता है। परीक्षा के समय यदि कुछ बातों पर ध्यान दिया जाए तो इस तनाव से छुटकारा पाया जा सकता है।

अपनाएं यह नियम:-

1. समय प्रबंधन:

किसी भी कार्य को करने के लिए समय का उचित प्रबंधन महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बिना समय के प्रबंधन के कोई भी कार्य ठीक तरह से नहीं किया जा सकता है इसी तरह परीक्षा के समय में भी इसकी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसके लिए आपको अपने सभी विषयों की एक लिस्ट बनानी चाहिए और उस पर उनके समय को लिख देना चाहिए। इस प्रकार आप जब भी उस लिस्ट को देखेंगे तो आप उसके समय के अनुसार अपने हर विषय को समय दे पाएंगे। इससे पढ़ाई करने में काफी मदद मिलती है।

2. स्वास्थ्य का ध्यान रखना:

स्वास्थ्य किसी भी व्यक्ति की पहली प्राथमिकता होना चाहिए, परीक्षा के समय ज्यादा चिंता करने से आपका स्वास्थ्य खराब हो सकता है। इसलिए परीक्षा के समय अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देना चाहिए। व्यायाम करना, अच्छा खाना खाना और अधिक से अधिक पानी का सेवन करना चाहिए। जिससे आपके शरीर में ऊर्जा बनी रहे और आप थकान महसूस ना करें।

क्या JEE Main जनवरी परीक्षा होगी स्थगित, पांए पूरी जानकारी

3. घबराहट को दूर करें:

परीक्षा के समय घबराहट होना आम बात है पर हर वक्त मन में नकारात्मक विचार रखने से पढ़ाई ठीक तरह से नहीं की जा सकती हैं। इसलिए आपको खुद पर विश्वास रखना चाहिए जब भी आपको घबराहट महसूस हो तो कुछ देर रुककर एक गहरी सांस ले और पूरे आत्मविश्वास से फिर से पढ़ाई करें।

4. दूसरों से सलाह ले:

अक्सर पढ़ाई करते वक्त कुछ विशेष विषय को लेकर मन में अस्पष्टता बनी रहती है और परीक्षा नजदीक होने के कारण हम जल्दबाजी में उन्हें रट लेते हैं पर ऐसा नहीं करना चाहिए। यदि कोई भी विषय समझ में नहीं आ रहा है, तो हमें अपने अभिभावक ,अध्यापक या दूसरे लोगों से बात करनी चाहिए और उसे समझना चाहिए।

4 साल के यूजी कार्यक्रम को लागू करने के लिए, जामिया मिल्लिया ने किया समिति का गठन

5. मन भटकाने वाली चीजों से दूर रहें:

आज पढ़ाई से मन भटकाने के लिए अनेकों चीजें उपलब्ध है, जिसका सबसे बड़ा उदाहरण आपका स्मार्टफोन है। यह आपके पढ़ाई में ध्यान को भटकाता है जिससे मन पढ़ाई में ठीक तरह से नहीं लग पाता है। इसलिए पढ़ाई के समय इन सब चीजों को दूर रखना चाहिए। इससे आपका फोकस पढ़ाई पर बना रहेगा और पढ़ा हुआ अच्छे से याद रहेगा।

ताजा खबरें