MP College Exams 2020: सीएम ने रद्द की अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट की परीक्षाएं

मध्य प्रदेश के अंडर ग्रेजुएट (UG) और पोस्ट ग्रेजुएट (PG) के उम्मीदवारों के लिए राहत भरी खबर है। मध्य प्रदेश सरकार ने अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट दोनों छात्रों की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है।

Updated On: Jun 23, 2020 11:36 IST

Dastak Web

Photo Source: Twitter

मध्य प्रदेश के अंडर ग्रेजुएट (UG) और पोस्ट ग्रेजुएट (PG) के उम्मीदवारों के लिए राहत भरी खबर है। मध्य प्रदेश सरकार ने अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट दोनों छात्रों की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पिछले वर्ष या सेमेस्टर में प्राप्त उच्चतम अंकों के आधार पर फाइनल ईयर या सेमेस्टर का परिणाम घोषित किया जाएगा। उन्होंने ये भी कहा कि छात्र बाद में ऑफ़लाइन परीक्षा का विकल्प चुन सकते हैं। अगर वे अपने अंकों में सुधार करना चाहते हैं, और इन परीक्षाओं की तारीखों की घोषणा बाद में की जाएगी।

यूजी और पीजी कॉलेज के एग्जाम स्थगित-

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि यूजी पाठ्यक्रमों के प्रथम और द्वितीय वर्ष के छात्र और पीजी पाठ्यक्रमों के द्वितीय सेमेस्टर के छात्रों को भी अगले वर्ष और सेमेस्टर में पिछले वर्ष या सेमेस्टर के प्रदर्शन तथा आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर पदोन्नत किया जाएगा। इससे पहले पिछले हफ्ते मई में, राज्य सरकार ने घोषणा की थी कि मध्य प्रदेश में सभी विश्वविद्यालयों के लिए स्नातक, स्नातकोत्तर और अन्य पाठ्यक्रमों के लिए अंतिम वर्ष या सेमेस्टर परीक्षा 29 जून से 31 जुलाई के बीच आयोजित की जाएगी।

12वीं के छात्रों को मिलेगा एक और मौका-

इसके अलावा उन्होंने यह भी बताया कि स्कूलों को फिर से खोलने के निर्णय की समीक्षा 31 जुलाई को की जाएगी। उन्होंने कहा कि जो छात्र किसी भी कारण से अपनी कक्षा 12वीं की परीक्षाओं में शामिल नहीं हो सके थे, उन्हें लिखने का एक और अवसर दिया जाएगा। बता दें कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सुरक्षा उपायों के मद्देनजर 16 मार्च से शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया गया है। वहीं, गृह मंत्रालय के मुताबिक स्कूल और कॉलेजों को फिर से खोलने का निर्णय जुलाई में हितधारकों के साथ बैठक के बाद लिया जाएगा। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश का यह निर्णय महाराष्ट्र सरकार द्वारा फाइनल ईयर और सेमेस्टर विश्वविद्यालय की परीक्षाओं को वैकल्पिक बनाने के बाद आया है।

महाराष्ट्र सरकार ने विश्वविद्यालय की परीक्षाओं बनाया वैकल्पिक-

महाराष्ट्र सरकार ने भी शुक्रवार को अंतिम वर्ष या सेमेस्टर विश्वविद्यालय की परीक्षाओं को वैकल्पिक बना दिया है। एक आधिकारिक बयान के मुताबिक राज्य के मंत्री उदय सामंत ने कहा कि जिन छात्रों ने पिछले सेमेस्टर को क्लियर कर लिया है, लेकिन उन्होंने एग्जाम देने का ऑप्शन चुना है, तो उनके एग्जाम स्थानीय स्तर पर कोरोना वायरस के प्रसार को ध्यान में रखते हुए कराया जाएगा।

CGBSE 10th-12th Results 2020: आज जारी होंगे कक्षा दसवीं और बारहवीं के नतीजे, ऐसे करें चेक

वहीं, जिन छात्रों ने पिछले सभी सेमेस्टर को पास कर लिया है, लेकिन फाइनल एग्जाम में उपस्थित नहीं होना चाहते हैं, उन्हें उनके पिछले सेमेस्टर से संबंधित कुल अंकों के आधार पर उत्तीर्ण किया जाएगा। सामंत ने कहा कि विश्वविद्यालय की परीक्षाओं के संबंध में छात्रों और अभिभावकों के मन में अनिश्चितता को समाप्त करने के लिए यह निर्णय लिया गया है, जिसका कार्यक्रम वायरस के प्रकोप के कारण प्रभावित हुआ है।

Manabadi TS SSC Results 2020: कक्षा दसवीं के नतीजे जारी, यहां देखें रिजल्ट

ताजा खबरें