अगले साल यानी एक जनवरी से बदलने जा रहे ये नियम, जानें आप पर होगा क्या असर

अगले साल यानी एक जवनरी 2021 से कई नियमों में बदलाव होने जा रहा है, जिसका आप सभी की जेब पर असर पड़ने वाला है। इन नियमों के तहत यूपीआई पेमेंट सिस्टम से लेकर चेक पेमेंट, फास्टैग से लेकर कॉलिंग से जुड़े कई नियम बदलने जा रहे हैं।

Updated On: Dec 21, 2020 11:46 IST

Dastak Online

Photo Source: Google

अगले साल यानी एक जवनरी 2021 से कई नियमों में बदलाव होने जा रहा है, जिसका आप सभी की जेब पर असर पड़ने वाला है। इन नियमों के तहत यूपीआई पेमेंट सिस्टम से लेकर चेक पेमेंट, फास्टैग से लेकर कॉलिंग से जुड़े कई नियम बदलने जा रहे हैं। ऐसे में आपको इन नियमों के बारे में जानना बेहद जरुरी है, ताकि आपको किसी तरह का कोई नुकसान ना हो।

अगले साल बदल जाएगा चेक से पेमेंट करने का नियम-

अगले साल से चेक पेमेंट से जुड़ा नियम बदलने जा रहा है। दरअसल, इस दिन से पचास हजार रुपये या उससे अधिक की पेमेंट करने पर आपको फिर से कुछ जरुरी डिटेल्स को फिर से कन्फर्म करना होगा। हालांकि, ये खाता धारक के ऊपर है कि वो इस सुविधा का लाभ उठाता है या नहीं। चेक से पेमेंट करने वाले को किसी भी इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से दे सकता है।

एक जनवरी से महंगी हो जाएंगी कारें-

अगले साल यानी एक जनवरी से कई गाड़ियों के दाम बढ़ने जा रहे हैं। इस हिसाब से कार खरीदना महंगा हो जाएगा। सुजुकी मारुति, फोर्ड इंडिया, किआ मोटर्स और MG मोटर दाम बढ़ाने का ऐलान कर चुकी हैं।

गाड़ियों में फास्टैग लगवाना होगा अनिवार्य-

यही नहीं, एक जनवरी से सभी वाहनों पर फास्टैग (FASTag) लगाना अनिवार्य हो जाएगा। यदि किसी वाहन पर फास्टैग नहीं लगा होगा तो उसे डबल जुर्माना देना होगा। फिलहाल सभी टोल प्लाजा पर 80 परसेंट लाइनों को फास्टैग और 20 परसेंट लाइनों को कैश में इस्तेमाल किया जा रहा है।

व्हाट्सएप में आने वाले है ये नए फीचर्स, जानकर उड़ जाएंगे आपके होश

लैंडलाइन से मोबाइल पर कॉल करने के लिए लगाना होगा जीरो-

अगर आप 1 जनवरी के बाद लैंडलाइन से किसी भी मोबाइल नंबर पर फोन लगाते हैं तो उसके लिए आपको 0 का इस्तेमाल करना होगा। बिना जीरो लगाए आपका कॉल नहीं लगेगा।

GST रिटर्न से जुड़े नियम जाएंगे बदल-

एक जनवरी से छोटे कारोबारियों को भी जीएसटी (GST) रिटर्न फाइलिंग सुविधा मिलेगी। नए नियम के तहत जिन कारोबारियों का टर्नओवर 5 करोड़ रुपये से कम है, उन्हें हर महीने रिटर्न दाखिल करने की जरूरत नहीं होगी। नया नियम लागू होने के बाद टैक्सपेयर्स को केवल 8 रिटर्न भरने होंगे। इनमें 4 जीएसटीआर 3बी और 4 GSTR 1 रिटर्न भरना होगा।

जींस के बारे में अगर नही जानी ये बातें, तो पड़ सकता है पछताना

ताजा खबरें