UGC Guidelines 2020: यूनिवर्सिटी फाइनल ईयर के एग्जाम होंगे या नहीं? जानें सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा

UGC Guidelines 2020: यूनिवर्सिटी के फाइनल ईयर के एग्जाम होने को लेकर पिछले कई दिनों से बहस चल रही थी। जिस पर आज सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है।

Updated On: Aug 28, 2020 12:03 IST

Dastak Web

Photo Source : Google

UGC Guidelines 2020: यूनिवर्सिटी के फाइनल ईयर के एग्जाम होने को लेकर पिछले कई दिनों से बहस चल रही थी। जिस पर आज सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने कहा है कि विश्वविद्यालयों के फाइल इयर के एग्जाम होंगे। कोर्ट ने कहा कि अगर किसी राज्य को लगता है, उनके लिए परीक्षा कराना मुमकिन नहीं, तो वह UGC के पास जा सकता है।

अंतिम वर्ष की परीक्षा को लेकर कई दिनों से सोशल मीडिया पर प्रोटेस्ट चल रहा था। अंतिम वर्ष के छात्रों का और उनके परिवार का कहना था कि ऐसे समय में परीक्षा देना नामुमकिन है। और सरकार को परीक्षा रद्द करने की मांग करी थी। आज कोर्ट के फैसले के बाद यह बात साफ हो गई कि अंतिम वर्ष की परीक्षा होगी।

कोर्ट ने कहा कि राज्य अंतिम वर्ष की बिना परीक्षा लिए विद्यार्थियों को प्रमोट नहीं कर सकते। 30 सितंबर तक परीक्षा करवाने के लिए UGC के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने मुहर लगा दी है,। कोर्ट के हिसाब से 30 सितंबर तक सभी राज्य को अंतिम वर्ष की परीक्षा लेनी ही होगी।

हालांकि, सुप्रीम कोर्ट में अंतिम वर्ष की परीक्षा टालने वाली याचिका पर पिछली सुनवाई 18 अगस्त को हुई थी। इस दौरान यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की अंतिम वर्ष की परीक्षा रद्द करने पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रखा था। इसी के साथ अदालत ने सभी पक्षों से तीन दिन के भीतर लिखित जवाब दाखिल करने को कहा था। केस फाइल होने के बाद बात अदालत तक पहुंचने के बाद अदालत ने ये भी कहा था कि अब सुप्रीम कोर्ट तय करेगा कि डिग्री कोर्स के अंतिम वर्ष की परीक्षा रद्द होंगी या नहीं।

रिया चक्रवर्ती ने बताया- 8 जून को क्यों छोड़ा था सुशांत का घर?

हालांकि, पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि तथ्य स्पष्ट हैं। जस्टिस अशोक भूषण की अगुवाई वाली बेंच ने सुनवाई के दौरान सरकार से पूछा था कि क्या यूजीसी के आदेश और निर्देश में सरकार दखल दे सकती है? इसके अलावा कोर्ट ने ये भी कहा था कि छात्रों का हित किसमें है? ये छात्र तय नहीं कर सकते, इसके लिए वैधानिक संस्था है, छात्र ये सब तय करने के काबिल नहीं हैं। कोर्ट ने राज्य सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि सरकार यह तय नहीं कर सकती कि परीक्षा होगी या नहीं होगी।

रूस अगले महीने शुरू कर सकता है वैक्सीन टीकाकरण अभियान

ताजा खबरें