हनी ट्रैप में फंसा संत , लूटा एटीएम

Updated On: Jul 11, 2020 20:48 IST

Dastak Web Team

राजस्थान - जोधपुर क्षेत्र के एक संत से करीब ढाई से फोन पर बात व चैटिंग करके हनी ट्रैप में फंसाकर दस लाख रूपये युवती के द्वारा मांगे जाने का मामला सामने आया है।  दसअसल चौपासनी हाउसिंग बोर्ड थाने के अंतर्गत क्षेत्र में रहने वाले एक संत युवती के साथ व्हाट्सएप चैटिंग के माध्यम से संपर्क में था वहीँ दोनों के बीच में चैटिंग के अलावा वीडियो कॉल पर भी बातें हुआ करती थी। बीती छह जुलाई को जब युवती जोधपुर में आयी तो संत उससे मिलने के लिए पहुंच गए।  वहीँ संत से पीछा छुड़वाने के लिए युवती ने एक अलग ही प्लान अपने दिमाग में सोचा हुआ था जिसके तहत संत को हनी ट्रैप में फ़साने का प्लान बनाया था।  इस बात का खुलासा तब हुआ जब संत को हनी ट्रैप में फंसाकर उससे दस लाख की मांग करने पर संत के द्वारा युवती के खिलाफ पुलिस में शिकायत की गयी।

पुलिस के अनुसार संत ने अपनी शिकायत में बताया की जिस युवती से वह लम्बे समय से चैटिंग और वीडियो कॉल्स के माध्यम से बात कर रहा था उसने बीती छह जुलाई को उससे मिलने के लिए कहा और उसे नहीं पता था युवती के साथ तीन अनजान युवक भी वहां पहुंच गए और संत के कपडे उतरवाकर उसके साथ आपत्तिजनक तस्वीरें व उसकी वीडियो बना ली।  जिसके बाद संत से मौके पर दस लाख रूपये मांगे गए और उसकेडेबिट व एटीएम कार्ड छीनकर फरार हो गए।  इसके बाद संत ने अपनी शिकायत पुलिस को दी।

वहीँ मामला सामने आने के बाद पुलिस ने युवती और तीनो युवको से पूछताछ के लिए थाने बुलाया तो युवती ने बताया की वह संत से चैटिंग और वीडियो कॉल्स पर बात करती थी लेकिन वह अब उससे पीछा छुड़वाना चाहती थी।  जिसके चलते उसने संत के साथ हनी ट्रैप की साजिश रचने की सोची ताकि संत से उसका पीछा हमेशा के लिए हो जाए।  जिसके लिए उसने अपने तीन परिचित युवको की मदद ली।  पुलिस ने बताया की फिलहाल युवती और युवको से और गहनता से पूछताछ जारी है।  वहीँ पुलिस ने यह भी बताया की संत समाजिक डर के कारण आगे की कार्यवाही करने से कतरा रहे है।  क्योंकि युवती के पास उसके आपत्तिजनक फोटो व वीडियो है।  वहीँ पुलिस ने यह भी कहा की जो उचित कार्यवाही होगी अमल में लायी जायेगी .

ताजा खबरें