केंद्र की भ्रष्ट सरकार के खिलाफ एक मजबूत तीसरे मोर्चे का गठन करेंगे: ओम प्रकाश चौटाला

पूर्व मुख्यमंत्री एवं इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओम प्रकाश चौटाला ने मंगलवार को चंडीगढ़ स्थित अपने निवास पर मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि तीन काले कृषि कानूनों के खिलाफ 36 बिरादरी के लोग खड़े हैं।

Updated On: Jul 27, 2021 18:18 IST

Dastak

Photo Source- INLD

पूर्व मुख्यमंत्री एवं इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओम प्रकाश चौटाला ने मंगलवार को चंडीगढ़ स्थित अपने निवास पर मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि तीन काले कृषि कानूनों के खिलाफ 36 बिरादरी के लोग खड़े हैं। उन्होंने कहा चाहे हिंदू हो, सिख हो, मुस्लिम हो या इसाई, एससी है या बीसी, कारखानेदार है या मजदूर है, व्यापारी है या छोटा दुकानदार है, चाहे किसान है या कमेरा है सभी की हालत दयनीय है। राजसत्ता के इलावा समूचे देश के लोग इन कानूनों के विरोध में एकजुट हैं। सरकार ने जितने भी कानून बनाए हैं वे योजनाबद्ध तरीके से अदानी और अम्बानी जैसे लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए बनाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि रोजमर्रा की जरूरत की चीजों के दाम दिन-प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। किसान को बीज उपलब्ध नहीं हैं, खाद, दवाइयां और डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। हर चीज महंगी होती जा रही है लेकिन किसान की फसल की कीमत मंदी होती जा रही है, उसका कोई खरीदार नहीं है। इतना बड़ा आंदोलन होने के बावजूद भी सरकार के कानों पर अब तक जूं तक नहीं रेंग पाई है। भाजपा के नेताओं द्वारा कृषि कानूनों को जनहित में बताकर उलटे-सीधे बयान दिए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि लोग बेहद परेशान हैं इसलिए आज सबसे बड़ी आवश्यकता ये है कि मौजूदा शासन का पतन कैसे किया जाए। इसके लिए उनका प्रयास ये होगा कि वो एक मजबूत तीसरा मोर्चा बनाएंगेे। इनेलो सुप्रीमो ने कहा कि हम राष्ट्रीय स्तर पर सभी विपक्षी पार्टियों के नेताओं से संपर्क स्थापित करेंगे और इस भ्रष्ट केंद्र सरकार के खिलाफ एक मजबूत तीसरे मोर्चे का गठन करेंगे। 25 सितम्बर को स्व. देवी लाल जी का जन्म-दिवस है और वो उस जन्म-दिवस से पहले हर प्रदेश में जाएंगे, सभी राजनैतिक विपक्षी पार्टियों के लोगों से संपर्क स्थापित करेंगे। उनका प्रयास यही होगा कि इस भ्रष्ट केंद्र की भाजपा सरकार का विकल्प तैयार किया जाए, मजबूत तीसरा मोर्चा हो और फिर आने वाले चुनाव में उस मोर्चे को सफलता मिले, जिससे इस भ्रष्ट केंद्र सरकार का अंत हो। भाजपा के कुशासन का अंत करने के लिए तीसरे मोर्चे के गठन की घोषणा भी 25 सितम्बर को की जाएगी।

खटकड़ टोल पर असामाजिक तत्व द्वारा उन पर डोगा मारने के इल्जाम लगाने के सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि इस देश में हर ख्याल के लोग हैं और अपनी सोच के मुताबिक निर्णय लेते हैं। जेल से रिहा होने के बाद वह सबसे पहले किसानों को बधाई देने गए थे जिन्होंने इस संघर्ष में एकत्रित होकर छत्तीस जात के लोगों को शामिल किया है। पे्रसवार्ता के दौरान पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि वो भाजपा-गठबंधन सरकार को अत्यंत भ्रष्ट मानते हैं। इस सरकार ने समूचे प्रदेश के हर वर्ग और हर जात के लोगों को बेरोजगार कर दिया है। आज प्रदेश की अर्थव्यवस्था चरमरा चुकी है। उन्होंने कहा कि 2005 में जब उनकी सरकार गई थी तो दो हजार करोड़ रुपए खजाने में छोडक़र गए थे, आज प्रदेश पर भाजपा-गठबंधन सरकार ने लगभग 2.5 लाख करोड़ रुपए का कर्ज लाद दिया है। आज हालत यह है कि कर्मचारियों को तनख्वाह देने के लिए भी हर महीने कर्ज लेना पड़ता है।

2019 के चुनाव में इनेलो से अलग हुई पार्टी के बारे में सवाल पूछने पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति की अपनी सोच होती है, उन लोगों ने क्या सोचकर नई पार्टी बनाई और कौन लोग उसमें शामिल हुए। आज उनमें भगदड़ मची हुई है और उस पार्टी के लोग छोडक़र जा रहे हैं। भाजपा तथा कांग्रेस पार्टी को भी लोग छोड़-छोडक़र जा रहे हंै। राजनीति में उतार-चढ़ाव आते-जाते रहते हैं लेकिन आज के दिन जनता जनार्दन के मन और जुबान पर है कि आने वाला समय इनेलो का है।

राजस्थान में वन्य जीवों की सुरक्षा के लिए आम लोगों द्वारा बनवाई जा रही है 40 कीलोमीटर लंबी दीवार

तीसरे मोर्चे के गठन पर पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का फोन उनके पास आया था और वो एक तारीख को उनके निवास पर उनके साथ भोजन करेंगे। उन्होंने कहा कि जब दो राजनीतिक लोग आपस में मिलकर बैठेंगे तो राजनीतिक चर्चा होगी। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी से भी उनके पारिवारिक संबंध हैं और वो एक-दूसरे के दुख-दर्द में निरंतर भागीदार हैं।

एमी विर्क और सोनम बाजवा की मनोरंजन से भरपूर फिल्म पुवाड़ा 12 अगस्त को होगी रिलीज

ताजा खबरें