भारत-चीन विवाद: दोनों देशों के बीच समझौता करवा सकता है अमेरिका?

भारत और चीन के सीमा विवाद को लेकर अमेरिका की तरफ से एक बड़ा बयान आया है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का कहना है कि अमेरिका भारत और चीन दोनों से बात कर रहा है। ऐसा इसलिए है ताकि अमेरिका दोनों देशों के मौजूदा सीमा तनाव को सुलझाने में मदद कर सके।

Updated On: Jun 22, 2020 13:53 IST

Dastak Online

Photo Source: Social Media

भारत और चीन के सीमा विवाद को लेकर अमेरिका की तरफ से एक बड़ा बयान आया है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का कहना है कि अमेरिका भारत और चीन दोनों से बात कर रहा है। ऐसा इसलिए है ताकि अमेरिका दोनों देशों के मौजूदा सीमा तनाव को सुलझाने में मदद कर सके। ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से इस विवाद के बारे में कहा कि यह बहुत कठिन स्थिति है। हम भारत से बात कर रहे हैं। हम चीन से बात कर रहे हैं। वहां एक बड़ी समस्या है।

साथ ही, ट्रंप ने कहा कि भारत और चीन दोनों एक आघात की स्थिति में आ गए हैं और वो देखेंगे कि क्या होता है। साथ ही उन्होंने विश्वास के साथ कहा कि वो दोनो देशों की मदद करने की कोशिश करेंगे। बता दें कि पिछले कुछ दिनों में पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के भारतीय हिस्से में चीनी सेना की घुसपैठ के खिलाफ पूरा ट्रम्प प्रशासन भारत का समर्थन भी कर चुका है।

संयुक्त राष्ट्र अमेरिका ने चीन पर भारत और अन्य पड़ोसी देशों के साथ सीमावर्ती तनाव को बढ़ाने का भी आरोप लगाया है। अमेरिका का कहना है कि इस समय ऐसा करके चीन कोरोनो वायरस महामारी से लड़ने में व्यस्त इन देशों पर धाक जमाना चाहता है।

Weather Alert: दिल्ली-एनसीआर में बदला मौसम का मिजाज, इन राज्यों में भारी बारिश के आसार

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा कि पीएलए (पीपुल्स लिबरेशन आर्मी) ने दुनिया के सबसे अधिक जनसंख्या वाले लोकतंत्र के साथ सीमा तनाव बढ़ा दिया है। चीन इसके साथ ही दक्षिण चीन सागर का सैन्यीकरण कर रहा है और अवैध रूप से अधिक क्षेत्र का दावा कर रहा है। इस तरह के बयानों के साथ कहीं ना कहीं अमेरिका भी चीन की चाल से परीचित है। इससे पहले आस्ट्रेलिया की तरफ से भी चीन को घेरना वाला बयान सामने आ चुका है।

चीन से सीमा पर निपटने के लिए भारतीय सेना को मिली ये छूट

ताजा खबरें