चीन ने सीमा विवाद के बीच भारत पर किया साइबर अटैक

सीमा पर मुंह की खाने के बाद भी चीन अपनी हरकतों से बाज नही आ रहा है। चीन ने भारतीय सूचना वेबसाइटों और देश की ऑनलाइन पेमेंट सिस्टम पर डीडीओएस (Distributed Denial Of Service) हमलों के साथ भारत के खिलाफ एक और जंग का मोर्चा खोल दिया है।

Updated On: Jun 18, 2020 13:01 IST

Dastak Online

Photo Source: Wikimedia Commons

सीमा पर मुंह की खाने के बाद भी चीन अपनी हरकतों से बाज नही आ रहा है। चीन ने भारतीय सूचना वेबसाइटों और देश की ऑनलाइन पेमेंट सिस्टम पर डीडीओएस (Distributed Denial Of Service) हमलों के साथ भारत के खिलाफ एक और जंग का मोर्चा खोल दिया है। डीडीओएस हमले में आर्टिफिशियल तरीके से नेटवर्क को व्यस्त करने के साथ इंटरनेट ट्रैफ़िक को बढ़ा दिया जाता है। इससे लोगों को ऑनलाइन काम करने में देरी का सामना करना पड़ सकता है। चीन ने इस बार भारत की सरकारी वेबसाइटों, भारतीय बैंकों के एटीएम सहित बैंकिंग सेक्टर के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले सर्वरों को अपना निशाना बनाया है। भारत में इसी तरह की अन्य वेबसाइटों को भी इस हमले के दौरान चीन द्वारा लक्ष्य बनाए गया।

चीन के इस शहर में बैठे हैकरों ने किया भारत पर साइबर हमला-

भारत पर हुए इन अधिकांश साइबर हमलों की जगह का पता चीन का केंद्रीय शहर चेंगदू रहा। चेंगदू चीन में सिचुआन प्रांत की राजधानी है। यहां पर चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी की इकाई 61398 का मुख्यालय भी है। यहीं से भारत में गुप्त साइबर हमला किया गया। यह हमले भारत में मंगलवार से शुरू हुए और बुधवार तक जारी रहें।

चेंगदू बड़ी संख्या में हैकर समूहों का भी घर है, जिनमें से कई को चीनी सरकारी एजेंसियों ने अपने संचालन के लिए एक कवर प्रदान किया है। इससे पहले भारत के खिलाफ साइबर हमले आम तौर पर पाकिस्तान से या मध्य यूरोप या संयुक्त राज्य अमेरिका के ज्ञात हैकर-फॉर-हायर केंद्रों से आते रहे हैं। बीते दो दिनों में साइबार हमलों में चीन से सीधे आने वाले हमलों में वृद्धि देखी गई है। इस खबर की पुष्टि हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के माध्यम से की गई है।

चीन इस तरह के हमलों के लिए पाकिस्तान का सहारा लेता रहा है-

सीमा विवादों पर चीन पहले से ही भारत के साथ लड़ रहा है। यह साइबर हमला भारत पर तब है जब सीमा के दोनों तरफ जवानों के शहीद होनों की खबरें आई हैं। चीन इससे पहले भी कहीं ना कहीं भारत पर साइबर हमले के लिए पाकिस्तान का सहारा लेता रहा है। सीमा पर बढ़ते विवादों के बाद अब वह खुले तौर पर इस तरह के हमले करना शुरू कर चुका है।

भारत फिर से बना संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का गैर-स्थायी सदस्य, जानें कब-कब मिला ये दर्जा

ताजा खबरें