चीन ने हॉन्ग कॉन्ग के लिए लागू किया सुरक्षा कानून, बौखलाए चीन ने अमेरिकी वीज़ा पर लगाया प्रतिबंध

चीन ने विवादित हॉन्ग कॉन्ग सुरक्षा क़ानून पास किया है। साथ ही हॉन्ग कॉन्ग मुद्दे को लेकर बौखलाए चीन ने अमेरिकी लोगों पर वीजा प्रतिबंध लगा दिया है।

Updated On: Jun 30, 2020 13:19 IST

Dastak Web

Photo Source : Twitter

अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देशों के एक्शन से बौखलाए चीन ने हॉन्ग कॉन्ग की सुरक्षा के लिए एक बड़ा फैसला लिया है।मंगलवार को चीन की संसद ने हॉन्ग कॉन्ग के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू कर दिया है। चीन का कहना है कि ये कानून आतंकवाद, अलगाववाद और विदेशी ताकतों के साथ मिलीभगत से निपटने के लिए बनाया गया है। इस कानून पर चर्चा शुरू होने के बाद से ही हॉन्ग कॉन्ग में कई बार हिंसक प्रदर्शन देखे गए हैं। साथ ही दुनिया भर में हांगकांग में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू करने के खिलाफ आवाज उठने से बौखलाए चीन ने अमेरिकी नागरिकों पर वीजा प्रतिबंध लगा दिया है। इससे पहले, अमेरिका ने हांगकांग में चीन की नीतियों के बदले में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (CCP) के अधिकारियों के खिलाफ वीजा प्रतिबंध लगाया था।

Unlock 2: इस तारीख तक बंद रहेंगे स्कूल और शैक्षणिक संस्थान, गाइडलाइंस जारी

चीन की बौखलाहट जारी है 

चीन की नेशनल पीपल्स कांग्रेस की स्थायी समिति ने सर्वसम्मति से इस क़ानून को पास कर दिया। इससे वैश्विक वित्तीय केंद्रों में गिने जाने वाले हॉन्ग कॉन्ग की स्वायत्तता में कटौती होगी। इस बदलाव को अमेरिका, ब्रिटेन और अन्य पश्चिमी देशों की सरकारों के साथ टकराव के रास्ते पर चीन का एक बड़ा कदम समझा जा रहा है। ब्रिटेन ने जब हॉन्ग कॉन्ग की स्वायत्ता चीन को 1997 में सौंपी थी तब कुछ क़ानून बनाए गए थे जिसके तहत हॉन्ग कॉन्ग में कुछ ख़ास तरह की आज़ादी दी गई थी जो कि चीन में लोगों को हासिल नहीं है।

Jio अपने ग्राहकों दे रहा है मुफ्त में 2GB हाई-स्पीड डेटा, ऐसे देखें ऑफर

दुनिभार में चीन का बॉयकॉट

हॉन्ग कॉन्ग में जून 2019 से विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहे हैं। फिलहाल हॉन्ग कॉन्ग में राष्ट्रीय सुरक्षा बिल को लेकर विरोध देखने को मिल रहा है। दुनियाभर में लोगों ने चीनी वस्तुओं का बॉयकोट शुरु कर दिया है। जहां सोमवार को भारत ने 59 चीनी मोबाइल ऐप्स को बैन कर दिया वहीं अमेरिका ने भी चीन को रक्षा उपकरणों के निर्यात में प्रतिबंध लगा दिया है।

बाईकर्स की ये समस्या भी सुनें, मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे

ताजा खबरें