Chinese Rocket: 18 टन का चीनी रॉकेट हुआ क्रैश, मलबा हिंद महासागर में आकर गिरा

चीन ने अपना सबसे बडा रॉकेट (Chinese Rocket) पिछले सप्ताह लॉन्च किया था, वो रविवार को वापस धरती के वायुमंडल में प्रवेश करता है और हिंद महासागर (Indian Ocean) में आकर गिरा है।

Updated On: May 9, 2021 12:01 IST

Dastak

Photo Source- Social Media

चीन ने अपना सबसे बडा रॉकेट (Chinese Rocket) पिछले सप्ताह लॉन्च किया था, वो रविवार को वापस धरती के वायुमंडल में प्रवेश करता है और हिंद महासागर (Indian Ocean) में आकर गिरा है। चीन का सरकारी मीडिया चैनल चीन सैंट्रल टेलिविजन ने इस खबर की चीन अंतरिक्ष कार्यालय के हवाले से पुष्टी की है। चीनी अधिकारियों के अनुसार रॉकेट का मलबा मालदीव (Maldives) के उत्तर में गिरा है।

स्पेस-ट्रैक जोकि एक अंतरिक्ष निगरानी एजेंसी है। वो अमेरिकी सैन्य डेटा का उपयोग करती है ने पुष्टि की है कि रॉकेट अब गिर चुका है। एजेंसी के अनुसार जो भी लोग #LongMarch5B की फिर से धरती पर एंट्री को ट्रैक कर रहे थे वो अब राहत महसूस कर सकते हैं।

इस बात पर दुनियाभर के अंतरिक्ष से जुडे़ लोग सोच-विचार कर रहे थे रकि रॉकेट का 18 टन से अधिक का मलबा आकर कहां गिरेगा। दुनिया पहले से ही कोरोना वायरस के खतरे से जूझ रही थी, ऐसे में रॉकेट के मलबे से होने वाले जान-माल के नुकसान से अंतरिक्ष क्षेत्र से जुड़े लोग घबराए हुए थे। पृथ्वी का लगभग 70 फीसदी हिस्सा पानी से ढका हुआ है इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए बहुत से वैज्ञानिकों का मत था कि रॉकेट समुद्र में ही गिरेगा।

फेसबुक ने जारी रखा अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर बैन, छह महीने बाद लेंगे निर्णय

चीनी मीडिया के अनुसार रॉकेट का एक बड़ा हिस्सा वायुमंडल में प्रवेश करते ही नष्ट हो गया, हिंद महासागर में उसके अवशेष ही गिरे हैं। इससे पहले शुक्रवार को चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा था कि चीनी रॉकेट का अधिकांश मलबा पृथ्वी पर पुन: प्रवेश करने पर जल जाएगा। इसलिए किसी भी तरह के नुकसान की संभावना नहीं है। चीनी विदेश मंत्रालय ने ये बयान अमेरिकी सेना के अंतरिक्ष कमान से बात करने के बात कही थी।

चीन से आया पीएम मोदी को ये संदेश, कोरोना के खिलाफ जंग में भारत की करेगा ये मदद

ताजा खबरें