104 दिनों के बाद पर्यटकों के लिए खुला फ्रांस का एफिल टॉवर

कोरोनो वायरस लॉकडाउन की वजह से पिछले 104 दिनों से बंद पड़े एफिल टॉवर को आम जनता के लिए खोल दिया गया है। फ्रांस देश में कोरोना के घटते मामलों के साथ सरकार द्वारा लोगों को राहत देने के लिए यह फैसला लिया गया। इसी के साथ पहले ही दिन गुरुवार 25 जून को यहां पर सैलानियों की भीड़ उमड़ती हुई दिखी।

Updated On: Jun 26, 2020 16:50 IST

Dastak Online

Photo Source: Wikimedia

कोरोनो वायरस लॉकडाउन की वजह से पिछले 104 दिनों से बंद पड़े एफिल टॉवर को आम जनता के लिए खोल दिया गया है। फ्रांस देश में कोरोना के घटते मामलों के साथ सरकार द्वारा लोगों को राहत देने के लिए यह फैसला लिया गया। इसी के साथ पहले ही दिन गुरुवार 25 जून को यहां पर सैलानियों की भीड़ उमड़ती हुई दिखी। फ्रांस की राजधानी में अन्य आकर्षक जगहों पर अभी भी ताला लगा हुआ है। ऐसे में एफिल टॉवर का खुलना पेरिस में लौट रहे पर्यटकों के लिए एक खुशी की बात है। फ्रांस के लवर संग्रहालय का 6 जुलाई तक फिर से खुलने की उम्मीद है।

पेरिस में इस समय दूसरे देश के निवासियों की संख्या घट चुकी है। इसका प्रमुख कारण कोरोना वायरस के डर से सभी लोगों का अपने घरों को पलायन है। इस समय एफिल टॉवर को देखने के लिए वहां पर इकट्ठा हुई भीड़ में सबसे ज्यादा लोग पेरिस के हैं। आम दिनों में यहां पर दूसरे देशों से आए लोगों की ज्यादा संख्या देखने को मिलती है।

एफिल टॉवर के तीन डेक में से केवल पहले दो को फिर से खोला गया है। गुरुवार को चढ़ाई करने वालों को दूर-दूर के दृश्य और चिलचिलाती गर्मी के मौसम में हल्की हवा ने राहत दी थी। इस टॉवर के महानिदेशक पैट्रिक ब्रांको रुइवो के अनुसार मार्च में शुरू हुए लॉकडाउन की वजह से बंद पड़े इस टॉवर से 27 मिलियन यूरो का नुकसान हुआ है।

World Anti Drug Day 2020: जानें, इस दिन का इतिहास, महत्व और क्यों मनाया जाता है

फ्रांस में कोरोना वायरस के कुल 1 लाख 61 हजार 348 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से कुल 29 हजार 752 लोगों की मौत हुई है। भारत की तरह फ्रांस में भी कोरोना रिकवरी रेट काफी अच्छा है। यहां पर कोरोना से कुल 75 हजार 351 लोग ठीक हो चुके हैं। जबकि 56 हजार 245 लोगों का अभी भी इलाज अस्पतालों में चल रहा है।

BCCI ने PCB को दिया करारा जवाब, कहा- पाकिस्तान से कोई आतंकी हमले न होने की दे गारंटी

ताजा खबरें