किम जोंग ने इतने दर्दनाक तरीके से दी थी अपने चाचा को मौत की सजा

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग की हरकतों से हर कोई वाकिफ है। उनकी तानाशाही के बारे में आए दिन कोई न कोई नई खबर सामने आती रहती है। इनकी तानाशाही इस हद तक है कि लोग अभी ने तानाशाही किम जोंग के नाम से बुलाते हैं।

Updated On: Sep 14, 2020 15:38 IST

Dastak Web

Photo Source: Twitter

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग की हरकतों से हर कोई वाकिफ है। उनकी तानाशाही के बारे में आए दिन कोई न कोई नई खबर सामने आती रहती है। इनकी तानाशाही इस हद तक है कि लोग अभी ने तानाशाही किम जोंग के नाम से बुलाते हैं।

तानाशाह किम को एक क्रुर शासक के तौर पर जाना जाता है। किम जोंग को इतना क्रुर कहा जाता है कि वो अपने रिश्तेदारों को भी कठोर से कठोर सजा देने में जरा भी नहीं कतराते हैं। अपने हो या पराये वह किसी को माफ नहीं करते। कहा जाता है कि अगर कोई उनके बनाए गए कानून को तोड़े तो वह उन्हें कभी माफ नहीं करते हैं। फिर चाहे वह कोई भी हो भले ही उनका रिश्तेदार क्यों ना हो।

बता दे कि अमेरिका के खोजी पत्रकार बॉब वुडवर्ड की एक किताब इन दिनों काफी चर्चा में है। बॉब वुडवर्ड की इस किताब में बहुत से चौंकाने वाले खुलासे किए गए हैं। किताब दो दिन बाद औपचारिक तौर पर बाजार में आ जाएंगी, जिसमें किम को लेकर कई दावे किये गये हैं।

किताब के एक पन्ने में बॉब वुडवर्ड ने खुलासा किया है कि , किम जोंग ने जब अपने चाचा जंग सांग थाक का सिर धड़ से अलग करवा देने के बाद उन्होंने उसके सिर को चाचा के मृत शरीर के सीने पर रखवाया और अपने अधिकारियों से उसे देखने के लिए कहा। इस तरह से वह लोगों के दिलों में अपने प्रति डर बनाए रखते हैं।

इसमें किम जोंग की कैबिनेट के कई अधिकारी शामिल थे। वुडवर्ड लिखते हैं कि किम जोंग ने ऐसा अपने शासन में भय पैदा करने के लिए किया था। बिना सिर के शव को देखकर कैबिनेट में शामिल अधिकारियों के पसीने छूट गए थे। वह डर गए कि कोई इस तरह से अपने ही परिवार वालों के साथ कैसे कर सकता है। किताब में ही लिखा है कि जब ट्रंप को इस बारे में बताया गया तो उन्होंने कहा कि मुझे सबकुछ पता है।

Bigg Boss 14: इस दिन से शुरू होने जा रहा शो, ये कंटेस्टेंट आएंगे नजर!

कहा जाता है कि कि किम जोंग-उन ने राष्ट्रपति को देशद्रोह के लिए अपने चाचा जंग सांग थाक को फांसी से मौत की सजा दी थी। मगर फिर दुर्दांत तरीके से उनका सिर धड़ से अलग कर दिया गया। हालांकि शासनकाल की शुरुआत में यह कहा जाता है कि उनके चाचा जंग ने उनके सरकार को मजबूत करने में मदद की। उन्होंने किम जोंग बहुत मदद किया था। लेकिन नॉर्थ कोरिया में खुलापन और सुधार के इस मकसद ने किम के मन में संदेह पैदा किया जिसके कारण उनको ये सजा दी गई। ये भी कहा गया कि चाचा के कुछ काम से किम के मन में शक पैदा हुआ था जिसका नतीजा उन्हें सजा-ए-मौत दी गई। इस बात से यह साबित होता है कि किम जोंग के खिलाफ जाने वालों के साथ वह क्या करता है। भले ही वो उसके परिवार का ही क्यों ना हो।

Samsung सबसे पहले भारत में लॉच करेगा अपनी Galaxy F सीरिज, भारतीय बाजार में पकड़ बनाना है मकसद

ताजा खबरें