सुषमा स्वराज ने चीन जाकर खोली पाक की पोल, सर्जिकल स्ट्राइक की बताई वजह

Updated On: Feb 27, 2019 09:48 IST

Jyoti Chaudhary

Photo : ANI

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद मंगलवार को वायु सेना ने पाकिस्तान में घुसकर आतंक के अड्डों को तबाह किया है। इसी के चलते विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इस मामले पर बातचीत करने चीन गई है। बुधवार सुबह विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने वुज़ेन में चीन के विदेश मंत्री वांग ली और रूसी विदेश मंत्री से मुलाकात की। यहां उन्होंने पुलवामा में हुए आतंकी हमले का जिक्र किया और कहा भारत आतंकवाद के खिलाफ ज़ीरो टॉलरेंस की नीति रखता है।

https://twitter.com/ANI/status/1100583904921178113

सुषमा स्वराज ने चीनी विदेश मंत्री से भारत की एयरस्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा कि उनका चीन का दौरा ऐसे समय पर हो रहा है जब भारत दुख और गुस्से से भरा हुआ है। कुछ दिन पहले ही जम्मू-कश्मीर में एक बड़ा आतंकी हमला हुआ था।

इसके साथ ही, सुषमा ने कहा कि इस आतंकी हमले को पाकिस्तान से चलने वाले आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने अंजाम दिया था। जिसका जवाब भारत ने दिया है। सुषमा ने चीन को बताया कि जब पाकिस्तान ने जैश के खिलाफ कोई कड़ा कदम नहीं उठाया, तो भारत ने ऐसा कर दिया।

https://twitter.com/ANI/status/1100587677081092096

सुषमा ने मंगलवार तड़के भारत के द्वारा की गई एयरस्ट्राइक की जानकारी रूस और चीन के विदेश मंत्रियों को दी। उन्होंने बताया कि पुख्ता इनपुट मिलने के बाद भारत की वायुसेना ने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी अड्डों के खिलाफ कार्रवाई की, इसमें कई आतंकवादी मारे गए हैं।

आपको बता दें कि चीन और पाकिस्तान की दोस्ती बीते कुछ समय में मजबूत हुई है। ऐसे में चीन को इस विषय पर भी साधना काफी अहम हो जाता है। जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने की भारत की राह में चीन की सबसे बड़ा रोड़ा है।

जाने भारत द्वारा पाकिस्तान में किए हमले की रणनीति, किस तरह दिया प्लान को अंजाम

UNSC की बैठक में चीन कई बार अपनी वीटो पावर का इस्तेमाल कर मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित होने से बचा चुका है। हाल ही में जब पुलवामा आतंकी हमले को लेकर UNSC की बैठक में निंदा प्रस्ताव लाने की बात हुई, तो चीन ने इसमें मसूद अजहर का नाम आने का विरोध किया। काफी मशक्कत के बाद चीन जैश-ए-मोहम्मद का नाम लेने पर राजी हुआ था।

ताजा खबरें