The Times : Scottish Gender Reform बिल को ब्लॉक करने की तैयारी कर रहे हैं ब्रिटेन के प्रधानमंत्री 'ऋषि सुनक'

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक स्कॉटिश के उन कानूनों को ब्लॉक करने की तैयारी कर रहे हैं जो लोगों के लिए लिंग परिवर्तन की प्रक्रिया को आसान बना देते हैं।

Updated On: Jan 15, 2023 14:40 IST

Dastak Web Team

Photo source - Google

स्नेहा मिश्रा 

द टाइम्स ने शुक्रवार को बताया कि ब्रिटिश प्रधानमंत्री ऋषि सुनक स्कॉटिश के उन कानूनों को ब्लॉक करने की तैयारी कर रहे हैं जो लोगों के लिए लिंग परिवर्तन की प्रक्रिया को आसान बना देते हैं। द टाइम्स के अनुसार, यह नई कानूनी सलाह सरकार के लिए अगले सप्ताह स्कॉटलैंड के प्रथम मंत्री ने निकोला स्टर्जन के लिंग पहचान कानूनों को शाही स्वीकृति की प्राप्ति को रोकने का मार्ग प्रदर्शित कर सकता है।

रिपोर्ट के मुताबिक, ऋषि सुनक अगले सप्ताह स्कॉटलैंड के सचिव एलिस्टर जैक के साथ 1998 स्कॉटलैंड अधिनियम की धारा 35 को लागू करने के विषय पर अंतिम निर्णय लेंगे, जो कि होलीरोड के पीठासीन अधिकारी को शाही सहमति के लिए बिल जमा करने से रोक देगा। ब्रिटिश प्रधानमंत्री के कार्यालय ने टिप्पणी के लिए अनुरोध का तुरंत जवाब भी नहीं दिया।स्कॉटिश सरकार के एक प्रवक्ता ने रॉयटर्स को एक ईमेल बयान में कहा, "स्कॉटलैंड हमेशा स्पष्ट रहा है कि यह बिल समानता अधिनियम को प्रभावित नहीं करता है।" प्रवक्ता ने यह भी कहा कि यूके की सरकार द्वारा स्कॉटिश संसद की लोकतांत्रिक इच्छा को कमजोर करने के किसी भी प्रयास का स्कॉटलैंड के द्वारा मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।

बिल्ली के बच्चे को गोद लेने पर कीजिए मुफ्त यात्रा, इस एयरलाइन ने दिया ये अनोखा ऑफर

स्कॉटलैंड ने पिछले महीने बिल पारित किया, जिससे यह यूके का पहला क्षेत्र बन गया जिसने लिंग बदलने के लिए स्व पहचान प्रक्रिया को मंजूरी दी। जिसमें लिंग डिस्फोरिया के चिकित्सा निदान की आवश्यकता को दूर करना और न्यूनतम आयु को 18 से घटाकर 16 करना शामिल है। स्कॉटलैंड ने कहा था कि अन्य देशों में समान कानूनों के कारण ट्रांसजेंडर लोगों के खिलाफ़ होने वाली हिंसा में कमी आई है। हालांकि हाल के वर्षों में ब्रिटेन में घृणा अपराध काफी बढ़ रहे हैं।

यूरोप में जनवरी महीने में रिकॉर्ड तोड़ गर्मी, जानिए कितना पहुंचा औसत तापमान

ऋषि सुनक ने भी पिछले महीने महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा पर बिल के प्रभाव के बारे में चिंताओं के बारे में बताया था। हालांकि विशेषज्ञों ने इसे खारिज कर दिया है। ब्रिटिश सरकार ने आगे कहा कि वह बिल की जांच करेगी और जरूरत पड़ी तो इसे रोकने पर भी विचार कर सकती है।

ताजा खबरें