स्कूल खुलते ही दाखिल हुए बंदर, प्रिंसपल की कुर्सी का भी लिया आनंद

मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले के डबरा के सरकारी स्कूल में बंदरों का आतंक है, वहां स्कूल में बच्चे कम और बंदर ज्यादा है। वहां स्कूल सात माह बाद खुले थे जिसके कारण बंदरों ने वहां कब्जा कर लिया।

Updated On: Jul 28, 2021 21:27 IST

Dastak

Photo Source- Social Media

मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले के डबरा के सरकारी स्कूल में बंदरों का आतंक है, वहां स्कूल में बच्चे कम और बंदर ज्यादा है। वहां स्कूल सात माह बाद खुले थे जिसके कारण बंदरों ने वहां कब्जा कर लिया। एक बंदर तो स्कूल के प्रिंसपल की कुर्सी पर कब्जा कर बैठ गया। स्कूल के खुलने के बाद बंदर ने दो लोगों को काटा भी और एक बंदर तो टीचर के कंधे पर भी बैठ गया। बंदर ने जिन दो लोगों को काटा है उनमें एक छात्र एक स्कूल कर्मचारी शामिल है।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक ये मामला ग्वालियर के डबरा के शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का है। सरकारी आदेशों के बाद स्कूल खुला था और उसमें 11वीं के छात्र पहले दिन की पढ़ाई के लिए पहुंचे थे। बहुत सारे छात्र अपने अभिभावकों के साथ दाखिला लेने के लिए भी आए थे। इन सब के साथ बंदरों का दल भी स्कूल में दाखिल हो गया। बंदर स्कूल प्रधानाचार्य के कमरे में भी प्रवेश कर गए और उनके डर में प्रधानाचार्य अपनी कुर्सी छोड़ खडे हो गए। इसके बाद एक बंदर ने उनकी कुर्सी पर बैठकर उसका आनंद लिया।

स्कूल में मौजूद स्टाफ ने बंदरों की इन हरकतों का वीडियो कैमरे में कैद कर लिया। क्लासरुम में भी बंदरों ने काम कर रहे शिक्षकों के सर पर बैठकर खूब उछल कूद मचाई थी। स्कूल के साथ आसपास के सरकारी दफ्तरों में भी बंदरों का यह दल उत्पात मचाता है। स्कूल कर्मचारियों के अनुसार हर 15 से 20 दिन के अंदर बंदरों की टोली स्कूल में आती है और उत्पात मचाती है।

वहीं क्लासरूम में भी बंदरों ने काम कर रहे शिक्षकों के सिर पर बैठकर उछल-कूद मचाई। बरामदे में मौजूद बंदरों ने एक छात्र और अभिभावक के पैर में काट लिया। डबरा के इस स्कूल के साथ ही BRC दफ्तर, जनपद ऑफिस में भी बंदरों का ये दल उत्पात मचाता है।

केंद्र की भ्रष्ट सरकार के खिलाफ एक मजबूत तीसरे मोर्चे का गठन करेंगे: ओम प्रकाश चौटाला

स्कूल के कर्मचारियों ने बताया कि 15 से 20 दिन में बंदरों की टोली स्कूल में आती है और धमाल मचाती है। वन विभाग को फोन पर सूचना दी जाती है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होती। इस लापरवाही के चलते कभी बड़ा हादसा हो सकता है। देखें बंदरों की वायरल वीडियो-

ताजा खबरें