क्या अब नहीं देना होगा Toll Tax? Toll Plaza होंगे खत्म?

Union Road Transport and Highways Minister Nitin Gadkari has made an important announcement in the Lok Sabha today. He has said that all toll plazas from the country will be abolished in the next one year.

Updated On: Mar 18, 2021 17:57 IST

Dastak Web 2

Photo : Google

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने आज लोकसभा में महत्वपूर्ण ऐलान किया है। उन्होंने कहा है कि अगले एक साल में देश से सभी टोल प्लाजा को खत्म कर दिया जाएगा लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि लोगों को टोल टैक्स नहीं देना होगा। लोगों द्वारा टोल टैक्स लिया जाएगा लेकिन इसके लिए GPS का उपयोग किया जाएगा। साथ ही उन्होंने पुरानी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकार ने कई ऐसे स्थानों और शहरी इलाकों के भीतर टोल बनवाए जो ‘गलत और अन्यायपूर्ण' है और इसे हटाने का कार्य एक साल में पूरा हो जायेगा। 

Asian Paints ने पेश किया अपना पहला किफायती पेंट, सभी को अपने सपनों का घर बनाने में करेगा मदद

दरअसल अमरोहा के बीएसपी सांसद कुंवर दानिश अली ने अपने गढ़ मुक्तेश्वर के पास सड़क पर नगर निगम की सीमा में टोल प्लाजा होने का मुद्दा उठाया। इसी मुद्दे के जवाब में नितिन गडकरी ने कहा कि साल भर में टोल प्लाजा हटाए जाएंगे और पिछली सरकार के गलत तरीके से  बनाए गए टोल को हटवा कर उसकी जगह जीपीएस का प्रयोग किया जाएगा। इसी के साथ उन्होंने अपने इस प्लान को समझाते हुए कहा कि, सड़क के एंट्री और एग्जिट पर कैमरे लगे होंगे। जब गाड़ी किसी भी सड़क पर एंट्री करेगी और जहां से निकलेगी, दोनों जगह पर गाड़ी की फोटो कैमरे से रिकॉर्ड कर ली जाएगी। इसी हिसाब से लोगों से टोल लिया जाएगा। इसका मतलब यह है की जितना सफर यात्री करेगा सिर्फ उतना ही टोल उनसे लिया जाएगा। इसी के साथ यात्री को कहीं पर भी रुकने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसी के साथ गडकरी ने बताया कि अब GPS सिस्टम नई गाड़ियों में लगकर आ रहे हैं, लेकिन पुरानी गाड़ियों में उनकी सरकार GPS फ्री में लगवा कर देगी।

ESIC Recruitment 2021: 189 पदों पर निकली भर्तियां, esic.nic.in पर जाकर करें अप्लाई

अपने इस ऐलान को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने बताया की अभी के टोल की व्यवस्था में चोरियां भी बहुत हो रही है। उन्होंने अपनी बात आगे रखते हुए कहा कि उनकी सरकार FASTag लेकर आई, जो अभी तक 93 परसेंट लागू हो चुका है, बाकी 7 परसेंट लोग डबल टोल दे रहे हैं, क्योंकि वो रिकॉर्ड नहीं होना चाहते । लेकिन उन्होंने इस मामले पर पुलिस कार्रवाई करने का आदेश दिया है। इसी के साथ उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में फास्टैग को अनिवार्य करने से टोल बूथ पर भारी भीड़ और यात्रियों की परेशानी थोड़ी कम हो गई है। इससे बिना लाइन में लगे हुए लोग अपना टोल का भुगतान करके आसानी से टोल प्लाजा से निकल सकते हैं।

ताजा खबरें