प्रेमिका का कत्ल कर शरीर को 35 टुकडों में काट फ्रिज में रखा, रोज रात 2 बजे जंगल में टुकड़े फेंकता था

दिल्ली में एक 28 वर्षीय युवक ने अपनी लिव-इन पार्टनर की कथित तौर पर हत्या कर दी और उसके शरीर के 35 टुकडे कर उसे फ्रिज में रख दिया। बदबू न आए इसलिए रोज अगरबत्ती भी लगाता था और एक-एक कर इन टुकड़ों को महरौली के जंगलों में डालकर आता था।

Updated On: Nov 14, 2022 19:00 IST

Dastak

Photo Source- Social Media

राजधानी दिल्ली में एक 28 वर्षीय युवक ने अपनी लिव-इन पार्टनर की कथित तौर पर हत्या कर दी और उसके शरीर के 35 टुकडे कर उसे फ्रिज में रख दिया। बदबू न आए इसलिए रोज अगरबत्ती भी लगाता था और एक-एक कर इन टुकड़ों को महरौली के जंगलों में डालकर आता था। रोज रात को 2 बजे के करीब वो शरीर के एक दो टुकडों को लेकर जंगल में अलग-अलग जगह डालने जाता था, शव सडे न इसके लिए उसने एक बड़ा फ्रिज भी खरीदा था। पुलिस के अनुसार उसने अमेरिका का क्राइम शो 'डेक्सटर' देखकर ऐसा करने का आईडिया लिया था।

पुलिस को हत्या के बारे में कब पता चला-

पुलिस ने इस मामले में कातिल आफताब अमीन पूनावाला को शनिवार को गिरफ्तार किया है। आफताब ने अपनी 26 साल की प्रेमिका श्रद्धा वाकर का कत्ल किया है। ये वारदात तब सामने आती है जब महाराष्ट्र से दिल्ली में लड़की के पिता आते हैं और अपनी बेटी का अपहरण होनी की शिकायत पुलिस को देते हैं।

आफताब ने क्यों की प्रेमिका श्रद्धा की हत्या-

पुलिस ने आरोपी आफताब को गिरफ्तार किया और उससे उसकी प्रेमिका श्रद्धा के संबध में पूछताछ की तो पता चला कि उसने अब से करीब पांच माह पहले 18 मई को उसकी गला दबाकर हत्या कर दी थी। क्योंकि वो लगातार उसपर शादी करने का दबाव बना रही थी। श्रद्धा को आफताब के अन्य महिलाओं से संबध के बारे में पता चल गया था और वो समझ गई थी कि वो उसे धोखा दे रहा है, इसलिए वो शादी का दबाव बना रही थी और इसी दबाव से तंग आकर आफताब ने उसका गला दबा दिया।

आफताब ने कैसे लगाया शव को ठिकाने-

आफताब ने शव को आरी की मदद से 35 टुकडों में काट दिया और उसे 300 लीटर के फ्रिज में रख दिया, जिसे उसने इसी कार्य के लिए खरीदा था। शव काटने के अगले 18 दिनों तक उसने महरौली के जंगलों में अलग-अलग जगह जाकर टुकडों को छिपाता रहा। आमतौर पर वह इस कार्य के लिए रात के दो बजे के बाद ही घर से बाहर निकलता था। शव के कारण घर में बदबू न हो इसके लिए वो लगातार अगरबत्ती का सहारा ले रहा था।

अमेरिकी शो 'डेक्सटर' से लिया हत्या का आईडिया-

पुलिस ने जब आफताब से पूछा कि उसे हत्या करने का ये आईडिया कैसे आया तो उसने बताया कि वो अमेरिका का काल्पनिक काहनियों पर बना शो 'डेक्सटर' देखता था। उसमें एक सीरियल किलर ने ठीक ऐसा ही किया था। आफताब को शेफ का काम भी आता था और वो एक फूड व्लॉगर भी था इसलिए वो चाकू चलाने में भी माहिर है।

आपस में कैसे मिले थे आफताब और श्रद्धा?

ये दोनों मुबंई में एक साथ काम करते थे, जब परिवार वालों ने इन दोनों के हिंदू-मुस्लिम रिश्ते को स्वीकार नहीं किया तो ये दोनों दिल्ली में शिफ्ट हो गए। दिल्ली में ये दोनों एक मल्टीनेशनल कंपनी के कॉल सेंटर में काम करते थे और महरौली के एक किराए के घर में रह रहे थे। पुलिस के मुताबिक मई माह के मध्य में दोनों के बीच शादी को लेकर आपस में बहस होती है, बहस बढ़ गई और इसी झगड़े में आफताब ने श्रद्धा का गला दबाकर हत्या कर दी।

माता-पिता नहीं कर रहे थे बेटी से बात-

श्रद्धा के पिता मुंबई के वसई इलाके से दिल्ली अपनी बेटी की खोज में आते हैं। उनकी बेटी अपने दोस्त से फोन के जरिए संपर्क में रहती थी, पिता भी दोस्त के जरिए ही बेटी के बारे में जानकारी जुटाते रहते थे। काफी दिनों से श्रद्धा से संपर्क न होने पर दोस्त ने ये बात उसके पिता को बताई तो पिता उसके बाद दिल्ली में अपनी बेटी की खोज में आए थे। लिव-इन रिलेशनशिप की वजह से गुस्से में होने के कारण माता-पिता अपनी बेटी से बात नहीं करते थे।

आधार कार्ड हर 10 साल में कराना होगा रिन्यू, आधार को लेकर सरकार ने नियमों में किए हैं बड़े बदलाव

पुलिस ने मामले की जांच में अबतक क्या किया है-

पुलिस ने आफताब के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है और उसे पांच दिन की हिरासत में ले लिया है। पुलिस के अनुसार उन्होंने आफताब की निशानदेही पर कुछ मांस के टुकडे बरामद जरुर किए हैं लेकिन अभी ये कह पाना मुश्किल है कि ये मानव मांस है या किसी पशु का। इसका पता उसकी जांच के बाद ही चल सकेगा। हालांकि पुलिस अभी वारदात में इस्तेमाल किया गया चाकू बरामद नहीं कर सकी है। इस वारदात में लव-जिहाद का एंगल है या नहीं इस बारे में खुलकर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता। क्योंकि जांच अभी अपनी शुरुआती दौर में है।

दृष्टि इंस्टीटयूट वाले डॉ विकास दिव्यकीर्ती ने क्या सच में किया राम का अपमान या ये सिर्फ प्रोपोगेंडा?

ताजा खबरें