अडानी को एयरपोर्टस सौंपने के खिलाफ हड़ताल पर जा रहे हैं देशभर के एयरकर्मी

भारत में एयरपोर्टों के निजिकरण (Privatisation of Airports) के खिलाफ देशभर के घरेलू और अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों के कर्मचारी हडताल पर जा रहे हैं। सरकार शुरुआत में छह एयरपोर्टों का निजिकरण करते हुए उन्हें गुजरात के अडानी ग्रुप (Adani) को दे रही है।

Updated On: Mar 30, 2021 11:17 IST

Dastak

प्रतीकात्मक तस्वीर ( Photo Source : Google)

भारत में एयरपोर्टों के निजिकरण (Privatisation of Airports) के खिलाफ देशभर के घरेलू और अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों के कर्मचारी हडताल पर जा रहे हैं। सरकार शुरुआत में छह एयरपोर्टों का निजिकरण करते हुए उन्हें गुजरात के अडानी ग्रुप (Adani) को दे रही है। एयरपोर्ट अथोरिटी ऑफ इंडिया एम्प्लोयीस यूनियन (AAIEU) इसको लेकर कड़ा विरोध कर रहा है। यूनियन ने अहमदाबाद, जयपुर, गुवाहटी, तिरुवनंतपुरम, लखनऊ, मंगलोर एयरपोर्ट के लीज पर दिए जाने के प्रोसेस की जांच करने की मांग की है।

"कोचीन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे को छोड़कर, बाकि 124 हवाई अड्डों की सेवाओं को 31 मार्च बुधवार को कुछ समाय के लिए बंद कर दिया जाएगा। इनमें सैन्य हवाई अड्डे और हेलीपैड शामिल हैं। हड़ताली कर्मचारी सीमा शुल्क, रडार संचार, भवन रखरखाव और सफाई, रनवे, एयरोब्रिड्स और कन्वेयर बेल्ट का डॉकिंग, जैसे विभागों में कार्यरत हैं।

कालकाजी मंदिर का जिम्मा दिल्ली के गांवों पर था, आजादी के बाद हुआ व्यवसायीकरण !

एयरपोर्ट अथोरिटी ऑफ इंडिया एम्प्लोयीस यूनियन से जुड़े करीब 3500 कर्मचारी हड़ताल पर जाएंगे। मुंबई के हवाई अड्डे के निदेशक सुधीर कुमार ने मीडिया को बताया है कि "विमान और यात्रियों दोनों के आने और जाने के लिए सभी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। कोई भी बुनियादी परिचालन प्रभावित नहीं होगा।

ताजा खबरें