अमर सिंह कॉलेज संरक्षण परियोजना को मिली यूनेस्को पुरस्कार मान्यता

लगभग 80 साल पहले बनाया गया श्रीनगर स्थित अमर सिंह कॉलेज की इमारत सांस्कृतिक धरोहर संरक्षण के लिए 2020 के यूनेस्को एशिया-पैसिफिक अवार्ड्स के साथ मान्यता प्राप्त सात संरक्षण परियोजनाओं में से एक है।

Updated On: Dec 28, 2020 18:02 IST

Dastak Web 1

Photo Source: Google

लगभग 80 साल पहले बनाया गया श्रीनगर स्थित अमर सिंह कॉलेज की इमारत सांस्कृतिक धरोहर संरक्षण के लिए 2020 के यूनेस्को एशिया-पैसिफिक अवार्ड्स के साथ मान्यता प्राप्त सात संरक्षण परियोजनाओं में से एक है। इस पुरस्कार की घोषणा नौ अंतरराष्ट्रीय संरक्षण विशेषज्ञों द्वारा की गई थी। INTACH के जम्मू और कश्मीर अध्याय द्वारा COVID-19 महामारी के कारण विचार-विमर्श ऑनलाइन आयोजित किया गया था।

अमर सिंह कॉलेज कश्मीर के सबसे प्रमुख संस्थागत भवनों में से एक है

केंद्र शासित प्रदेश के अमर सिंह कॉलेज में इंटैक चैप्टर ने संरक्षण कार्य किया था। और अमर सिंह कॉलेज कश्मीर के सबसे प्रमुख संस्थागत भवनों में से एक है। परियोजना टीम ने मूल इमारत के डिजाइन और सामग्री पर विशेष ध्यान दिया था। इसमें कारीगरों से ईंट और पत्थर की चिनाई इस प्रकार कराई गई कि जिससे आने वाली नई पीढ़ी को भी प्रशिक्षण प्रदान किया जा सके। यह परियोजना 20 वीं शताब्दी की एक अद्वितीय वास्तुकला संपत्ति की सुरक्षा के लिए एक उल्लेखनीय मॉडल पेश करती है।

लोग भवन को देखने के लिए कॉलेज की यात्रा करना पसंद करेंगे

इस पुरस्कार की घोषणा के साथ ही इस कॉलेज के शिक्षक, कर्मचारी और छात्र खुद को बहुत गौरवान्वित महसूस करते हैं। क्योंकि अब लोग और पर्यटक इस विरासत भवन को देखने के लिए इस कॉलेज की यात्रा करना पसंद करेंगे। और यह इमारत अब कश्मीर घाटी के सबसे पुराने विरासत भवन में शामिल है। अमर सिंह कॉलेज के प्रिंसिपल बशीर अहमद राथर ने कहा है कि अगर किसी धरोहर या सांस्कृतिक इमारत का संरक्षण सही तरीके से किया गया हो, तो उसे यूनेस्को से मान्यता मिल सकती है। भवन का निर्माण पिछले साल मूल सामग्री का उपयोग करके किया गया था।

इन स्मार्टफोन्स में अगले साल से काम करना बंद कर देगा WhatsApp

कॉलेज के प्रोफेसर तारिक आशई ने एएनआई को बताया कि कॉलेज की इमारत के माहौल और निर्माण को यूनेस्को द्वारा मान्यता दी गई है। ऐसा केवल छात्रों और कॉलेज के संकाय सदस्यों के कारण ही संभव हुआ है। अब हमारे पास इस इमारत के बुनियादी ढांचे और सुंदरता को संरक्षित करने की जिम्मेदारी है। अमर सिंह कॉलेज के छात्रों ने भी आज तक इमारत के संरक्षण के लिए प्रशासन की सराहना की है। और वह शैक्षंणिक संस्थान का हिस्सा बनकर काफी खुश हैं।

कोरोना एंटीबायोटिक्स लेने से बिगड़ सकती है आपकी सेक्स लाइफ, WHO ने दी चेतावनी

ताजा खबरें