बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने रामचरितमानस को बताया नफरत की किताब

बिहार के शिक्षा मंत्री चन्दशेखर ने महाकाव्य रामचरितमानस को नफरत के किताब बताया उनके ऐसी टिप्पणी पर अयोध्या के संत जगद्गरू परमहंस आचार्य ने मंत्री चंद्रशेखर को मंत्री पद से हटाने और माफी मांगने की मांग की।

Updated On: Jan 12, 2023 16:31 IST

Dastak Web Team

Photo Source- Instagram

मैना कटारिया

बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने हिंदू धर्म की पवित्र किताब रामचरित्रमानस को लेकर एक विवाद पूर्ण टिप्पणी करी है उन्होंने रामचरितमानस को नफरत के किताब बताया उनके ऐसी टिप्पणी पर अयोध्या के संत जगद्गरू परमहंस आचार्य ने मंत्री चंद्रशेखर को मंत्री पद से हटाने और माफी मांगने की मांग की, इसके साथ ही संत ने यह भी ऐलान किया कि अगर चंद्रशेखर माफी नहीं मांगता तो उनकी जीभ काटने वाले को 10 करोड़ का इनाम देंगे।

क्या कहा शिक्षा मंत्री ने-

बिहार के शिक्षा मंत्रीचंद्रशेखर ने बुधवार 11 जनवरी 2023 को नंदलाल ओपन यूनिवर्सिटी के 15 दीक्षांत समारोह में छात्रों को भाषण देते हुए कहा की रामचरितमानस समाज को विभाजित करती है, उन्होंने रामचरितमानस का विरोध करते हुए कहा कि उस किताब में निचली जाति के लोगों को शिक्षा प्राप्त करने की अनुमति नहीं दी गई उसमें लिखा है कि जिस तरह सांप को दूध पिलाने से दूध जहरीला हो जाता है, उसी प्रकार निचली जाति के लोगों के शिक्षा प्राप्त करने से वह भी जहरीली हो जाती है, मनुस्मृति और रामचरितमानस समाज का खंडन कर उनमें नफरत फैलाने का काम करती है।

ईश्वर की पोस्टमैन बन गई हूं : अरुणा गोयनका

संत ने चंद्रशेखर को क्या कहा-

चंद्रशेखर की ऐसी टिप्पणी पर संत ने भड़कते हुए बोले बिहार के शिक्षा मंत्री कि इस प्रकार के टिप्पणी सहन नहीं की  जाएगी, उन्होंने रामायण पर आधारित रामचरितमानस ग्रंथ को नफरत फैलाने वाली किताब कहकर संपूर्ण देश की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई है, सनातन धर्म और सनातनीयों का अपमान किया है मैं उन पर कानूनी कार्रवाई की मांग करता हूं, बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर को मंत्री पद से हटाया जाए साथ में उन्हें माफी मांगनी होगी अगर उन्होंने माफी नहीं मांगी तो उनकी जीभ काटने वाले को  10 करोड़ का इनाम देने की घोषणा करता हुं।

एक युवक ने लगाई नॉलेज पार्क मेट्रो स्टेशन से छलांग, जानिए पूरा मामला

ताजा खबरें