एयरक्राफ्ट की सुरक्षा पर सवाल उठाने वाले कैप्टन गौरव तनेजा को एयरएशिया इंडिया ने दिखाया बाहर का रास्ता

एयरएशिया इंडिया(AirAsia India)  ने कैप्टन गौरव तनेजा(Gaurav Taneja) को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। गौरव ने एयरलाईन में सुरक्षा गडबडियों को लेकर व्हिसलब्लोअर की भूमिका निभाई थी।

Updated On: Jun 30, 2020 20:57 IST

Dastak

Photo Source- Social Media

एयरएशिया इंडिया(AirAsia India)  ने कैप्टन गौरव तनेजा(Gaurav Taneja) को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। गौरव ने एयरलाईन में सुरक्षा गडबडियों को लेकर व्हिसलब्लोअर की भूमिका निभाई थी। जिस कारण गौरव को चारों तरफ से तो तारीफ मिली लेकिन एयरलाईन ने सच सामने आ जाने के कारण गौरव को नौकरी से ही निकाल दिया। कहा यही जा रहा है कि गौरव के खिलाफ ये एक्शन उनके व्यवहार को देखते हुए लिया गया है। जिसमें एयरलाईन ने अपने सभी नियमों का पालन किया है।

26 जून को ही निकाल दिया गया था पायलट को-

जानकारी के मुताबिक पायलट को 26 जून को ही निकाल दिया गया। एक दिन पहले ही उन्हें सस्पेंड किया गया था। सस्पेंड करने के पीछे कारण एयरलाईन की सेफ्टी को लेकर जनता के सामने सवाल उठाने का जुर्म था। एयरलाईन के अनुसार उन्हें सार्वजनिक तौर पर ये समस्या नहीं बतानी चाहिए थी। तनेजा ने 14 जून को एक यूट्यूब वीडियो के माध्यम से बताया था कि एयरक्राफट और उसके पैसेंजरों की सेफ्टी पर सवाल उठाने पर उन्हें एयरलाईन द्वारा सस्पेंड कर दिया गया है।

गौरव तनेजा ने छुट्टी देने के तरीके पर सवाल उठाए थे-

जानकारी के अनुसार गौरव ने छुट्टी देने के तरीके पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि छुट्टी के तुरंत बाद थकान में ही पायलटों को जहाज उडाने को मजबूर किया जाता है। जो पैसेंजर और उनकी सेफ्टी के लिए खतरनाक है। एयरलाइन बेसिक कोरोना के मेजेरस फॉलो नहीं कर रही थी। डीजीसीए का सर्कुलर फॉलो नहीं कर रही थी एयरलाइन। गौरव ने बताया कि एयरलाइन लैंडिग में फ्यूल बचाने के लिए लैंडिंग के तरीके में बदलाव करवाते हैं। जिससे लोगों की जान को खतरा होता है। जिसके बाद 15 जून को विमानन नियामक डीजीसीए ने ट्वीट कर जानकारी दी थी कि वो विशेष एयरलाइन के खिलाफ लगे आरोपों की तरफ ध्यान दे रही है। पायलट ने मीडिया को बताया है कि डीजीसीए ने उनकी शिकायत पर जांच शुरु कर दी है। जांच में जो भी सामने आएगा उसके बाद उचित कार्यवाही को अमल में लाया जाएगा।

चीन ने लगाई भारतीय मीडिया वेबसाइट और टीवी चैनलों पर पूरी तरह रोक

डीजीसीए ने एयरलाइन को दिया है नोटिस-

जिसके बाद डीजीसीए(DGCA) ने इसे सुरक्षा मानदंडों के कथित उल्लंघन मानते हुए एयरलाइन के एक वरिष्ठ कार्यकारी अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करने का फैसला किया। डीजीसीए के एक अधिकारी ने मीडिया को बताया है कि पायलट के आरोपों के बाद ही उन्होंने कंपनी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। एयर एशिया के एक प्रवक्ता ने मीडिया में बयान जारी कर कहा है कि उन्हें इस संबध में नोटिस मिला है और वो डीजीसीए के साथ पूर्ण रुप से जांच में सहयोग दे रहे हैं।

Covaxin क्या है, क्या भारत दुनिया को देने जा रहा है कोरोनावायरस की वैक्सीन?

 

ताजा खबरें