हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में पड़ने वाले मकलोडगंज के करीब भागसूनाग में बादल फटने से तबाही

हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में बादल फटने से भारी तबाही हुई है। यहां के भागसू नाग इलाके में ये बादल फटा है। धर्मशाला का मकलोडगंज के करीब भागसू में आज सुबह बादल फटने से जलस्तर काफी बढ़ गया है।

Updated On: Jul 12, 2021 16:47 IST

Dastak

Photo Source- Social Media

हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में बादल फटने से भारी तबाही हुई है। यहां के भागसू नाग इलाके में ये बादल फटा है। धर्मशाला का मकलोडगंज के करीब भागसू में आज सुबह बादल फटने से जलस्तर काफी बढ़ गया है। जिससे वहां कईं घरों और होटलों आदि को नुकसान उठाना पड़ा है। पानी का बहाव इतना तेज था कि सडकों किनारे खड़ी पर्यटकों और स्थानीय लोगों की कारें और दुपहिया मोटरवाहन बह गए। पानी के तेज बहाव में हुए हादसे में दो लोगों के लापता होने की खबर भी है।

हिमाचल प्रशासन का कहना है कि जरुरी नहीं है कि ये बादल फटने की घटना हो, हो सकता है कि भारी बारिश के चलते ये बाढ़ की स्थिती का बन जाना हो। सोशल मीडिया पर इन स्थानों से कई वीडियो इस घटना के वायरल हो रहे हैं जिसमें पानी के तेज बहाव में लोगों के वाहन बहते हुए भी देखे जा सकते हैं। लोग इसे प्रकृति से छेड़छाड़ का नतीजा भी बता रहे हैं और वहां लगातार हो रहे होटलों के निर्माण और अत्याधिक टूरिस्ट गतिविधियों के लिए भी इसको जिम्मेदार मान रहे हैं।

इस घटनाक्रम के बाद वहां की मांझी नदी का जलस्तर बढ़ गया है। जिस कारण ये चिंता का विषय बना हुआ है। धर्मशाला में इस वक्त काफी पर्यटक हैं, ऐसे में राज्य सरकार के सामने पर्यटकों को संभालना और तबाही से बचना बड़ी चिंता का विषय बन गया है। घटना के वक्त भी भारी संख्या में प्रयर्टक भागसू नाग और इसके आसपास के इलाकों में घूम रहे थे। कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बाद भारी संख्या में दिल्ली और आसपास के लोगों ने घूमने के लिए पहाड़ों का रुख किया है।

पिछले कईं दिनों से नैनीताल, मसूरी और शिमला से पर्यटकों की भारी भीड़ की तस्वीरें सामने आ रही थी। जिसके बाद केंद्र सरकार सहित हिमाचल और उत्तराखंड सरकारें हरकत में आई और उन्होंने कोरोना नियम तोड़ती भीड पर प्रतिबंध लगाने के लिए सख्त रवैया अपनाया था। मीडिया में आ रही रिपोर्टस के मुताबिक चंद घंटो में धर्मशाला में 300 मिलीमीटर से अधिक बारिश दर्ज की गई है।

जनसंख्या नियंत्रण के बाद अब क्या होंगे बीजेपी के अगले मुद्दे?

मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि कुछ ही घंटे में धर्मशाला में 300 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है। धर्मशाला के भागसू, मकलोडगंज, नड्डी समेत कई इलाकों में इन दिनों पर्यटकों की भारी भीड़ जमा है। इस बीच शिमला में भी झाकरी के पास भारी बारिश के चलते भूस्खलन हुआ है और इसकी वजह से नेशनल हाईवे पर ट्रैफिक को रोकना पड़ा है। मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक अगले दो से तीन दिन और धर्मशाला, शिमला समेत हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश जारी रहेगी। ऐसे में पर्यटकों को इन इलाकों का रुख करने से फिलहाल बचना चाहिए।

जब परिवार का बड़ा सदस्य पक्षपाती हो जाए, तब जन्म लेता है विद्रोह- अजय चौधरी

ताजा खबरें