Fastag की एक दिन की कमाई 80 करोड़, रिकॉर्ड 50 लाख ट्रांसक्शन्स हुए

FASTag के जरिये टोल संग्रह 24 दिसंबर को पहली बार 80 करोड़ रुपये प्रति दिन को पार कर गया है। आपको बता दें कि जब से राष्ट्रीय राजमार्गों (National Highways) पर इलेक्ट्रॉनिक तरीके से ऑटोमैटिक टोल संग्रह करने की प्रणाली फास्टैग (Fastag) शुरू हुई है।

Updated On: Dec 26, 2020 14:59 IST

Dastak Web 1

Photo Source: Google

FASTag के जरिये टोल संग्रह 24 दिसंबर को पहली बार 80 करोड़ रुपये प्रति दिन को पार कर गया है। आपको बता दें कि जब से राष्ट्रीय राजमार्गों (National Highways) पर इलेक्ट्रॉनिक तरीके से ऑटोमैटिक टोल संग्रह करने की प्रणाली फास्टैग (Fastag) शुरू हुई है। तभी से अब हर रोज फास्टैग से 50 लाख से भी ज्यादा ट्रांजेक्शन होने लगे हैं। यदि इन ट्रांजेक्शन का मूल्य देखा जाए तो यह हर रोज 80 करोड़ रुपये से भी ज्यादा का बन रहा है। हालांकि यह आंकड़ा 24 दिसंबर को ही इस स्तर पर पहुंचा है। उल्लेखनीय है कि अभी तक एनएचएआई 2.20 करोड़ से भी ज्यादा फास्टैग जारी कर चुका है। राजमार्ग उपयोगकर्ताओं द्वारा FASTag को अपनाने से अभूतपूर्व वृद्धि देखी गई है।

एक जनवरी, 2021 से वाहनों के लिए फास्टैग को अनिवार्य कर दिया गया है। सरकार ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) को टोल प्लाजा पर वाहनों को बिना किसी रुकावट की आवाजाही के लिए सभी आवश्यक प्रबंध करने के लिए कहा है। केंद्रीय मोटर वाहन नियम 1989 के अनुसार, 1 दिसंबर 2017 से नए चार पहिया वाहनों के पंजीकरण के लिए FASTag को अनिवार्य कर दिया गया है।

एक जनवरी 2021 से सभी चार पहिया गाड़ियों में Fastag लगाना अनिवार्य

राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने यह एलान किया है कि एक जनवरी 2021 से सभी चार पहिया गाड़ियों में Fastag लगाना अनिवार्य हो जाएगा। उन्होंने यह भी कहा है कि इन सभी वाहनों में फास्टैग लगने के बाद टोल प्लाजा पर नकद भुगतान के लिए रुकना नहीं पड़ेगा। जिन वाहनों पर फास्टैग नहीं लगे होंगे, उन्हें थर्ड पार्टी इंश्योरेंस भी नहीं दिया जाएगा। यह व्यवस्था अप्रैल 2021 से लागू हो जाएगी।

देश में इतने है FASTag पॉइंट्स

FASTag देश भर में 30,000 से भी अधिक पॉइंट्स (PoS) पर उपलब्ध है और (NHAI) टोल प्लाज़ा पर अनिवार्य रूप से उपलब्ध है। वाहन मालिक एसबीआई, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई, बैंक ऑफ बड़ौदा, एक्सिस, सिटी यूनियन बैंक जैसे बैंकों की शाखाओं या ऑनलाइन सेवाओं से FASTags को खरीद सकते हैं। आप इसे अमेज़न, फ्लिप कार्ट और स्नैपडील के माध्यम से ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं। इसका भुगतान करने के लिए भारत बिल भुगतान प्रणाली (BBPS), (UPI), ऑनलाइन भुगतान, My FASTag मोबाइल ऐप, PAYTM, Google भुगतान और अन्य रिचार्ज सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं।

IPL में अगले साल की बजाय 2022 में क्यों खेलेंगी दो नई टीमें?

इसके अलावा उपयोगकर्ताओं के लिए टोल प्लाजा (PoS) में नकद रिचार्ज की सुविधा भी प्रदान की जा रही है। FASTag रेडियो-फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) तकनीक का उपयोग करता है। जो उपयोगकर्ताओं को बिना प्रतीक्षा किए टोल प्लाजा पर एक सहज और सरल क्रॉस-ओवर प्रदान करता है। इसका भुगतान FASTag से लिंक बैंक के वॉलेट से डिजिटल रूप से किया जाता है।

JKSSB Accounts Assistant Result 2020: बोर्ड ने जारी किया रिजल्ट, यहां जल्दी करें चेक

ताजा खबरें