तमिलनाडु में पिता-बेटे की हिरासत में मौत से पूरे देश में गुस्सा, पुलिस पर कार्यवाही की मांग

बेनीक्स और जयराज को पिछले शनिवार को सथानकुलम पुलिस स्टेशन से जुड़े पुलिसकर्मियों द्वारा उठाया गया था। उस दिन पिता और पुत्र की तय अवधि के बाद मोबाईल की दुकान खोलने को लेकर पुलिस से तीखी बहस हुई थी।

Updated On: Jun 28, 2020 15:42 IST

Dastak

प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Source- Social Media)

तमिलनाडु में पुलिस हिरासत में जयराज (59) और उनके बेटे बेनिक्स (31) की मौत से पूरे देश में गुस्सा है। देशभर के लोग आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग कर रहे हैं। पुलिस ने इन दोनों को लॉकडाउन में तय समय के बाद दुकान खोलने के आरोप में गिरफ्तार किया था और फिर आरोप है कि इनके निजी अंगों को पुलिस ने खत्म कर दिया। जिसके बाद अधिक खून के रिसाव से उनकी मौत हो गई। जयराज की पत्नी ने आरोप लगाया है कि उनके पति और बेटे को निर्दयतापूर्वक अपमानित किया गया और उनकी मृत्यु से पहले उन्हें कठोर यातनाएं दी गईं।

शरीर के पिछले हिस्से गुदा में थी चोट-

कोविलपट्टी उप-जेल अस्पताल से प्राप्त रिकॉर्ड से पता चलता है कि जयराज और बेनिक के शरीर के पिछले क्षेत्र गुदा में कई निशान थे और उसमें से खून बह रहा था। बेनीक्स के मामले में, अस्पताल के रिकॉर्ड से पता चला कि उसके घुटने के कप दबाए गए थे। वहीं, रिकॉर्ड कहते हैं कि जयराज मधुमेह से भी पीड़ित थे। ये डाक्टरी रिपोर्ट मृतक पीडितों के साथ अत्याधिक अत्याचार को दिखाता है जैसा कि उनके घर वालों के आरोप हैं।

मोबाईल की दुकान खोलने को लेकर हुई थी बहस-

अपनी तरफ से दी एक लिखित शिकायत में जयराज की पत्नी सेल्वरानी ने दावा किया कि बेनीक्स और जयराज को पिछले शनिवार को सथानकुलम पुलिस स्टेशन से जुड़े पुलिसकर्मियों द्वारा उठाया गया था। उस दिन पिता और पुत्र की तय अवधि के बाद मोबाईल की दुकान खोलने को लेकर पुलिस से तीखी बहस हुई थी।

जेल में दी गई शारिरिक और मानसिक यातना-

स्थानीय लोगों द्वारा दिए गए बयानों के अनुसार, भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करने के बाद जयराज और बेनिकों को रविवार को कोविलपट्टी उप-जेल ले जाया गया। आरोपों के अनुसार उन्हें अत्यधिक यातना, मौखिक और शारीरिक अपमान किया गया। जिसके कारण उनका स्वास्थय बिगड़ गया।

अस्पताल में जाकर हुई मौत-

जिसके बाद दोनों को कोविलपट्टी के सरकारी अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया, जहां सोमवार शाम को बेनिक की मृत्यु हो गई और जयराज ने अगली सुबह एक सांस की बीमारी के कारण दम तोड़ दिया।

थूथुकुडी के अधिकारियों ने मीडिया को बताया कि दो सब-इंस्पेक्टरों को निलंबित कर दिया गया है और जयराज और उनके बेटे बेनिक्स की कथित हिरासत में मौत की जांच चल रही है।

Delhi में 24 घंटे के नोटिस पर शुरु हो सकती है Metro सेवा, ये हैं सफर के नए नियम

ताजा खबरें