गुजरात कांग्रेस के ये पांच विधायक भाजपा में हुए शामिल

राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के आठ विधायको ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। राज्यसभा चुनाव जोकि पहले मार्च में होने थे कोरोना संकट के कारण उनका चुनाव जून में करवाया गया। इन आठ कांग्रेस विधायकों में से पांच, आज शनिवार 27 जून को गुजरात में भाजपा पार्टी में शामिल हो गए हैं।

Updated On: Jun 27, 2020 18:18 IST

Dastak Online

Photo Source: Google

राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के आठ विधायको ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। राज्यसभा चुनाव जोकि पहले मार्च में होने थे कोरोना संकट के कारण यह चुनाव जून में करवाया गया। इन आठ कांग्रेस विधायकों में से पांच, आज शनिवार 27 जून को गुजरात में भाजपा पार्टी में शामिल हो गए हैं। इनमें कांग्रेस के पूर्व विधायक जीतू चौधरी, प्रद्युम्नसिंह जडेजा, जे वी काकड़िया, अक्षय पटेल और बृजेश मेरजा पार्टी का नाम शामिल है। इन सभी को भाजपा के गुजरात राज्य इकाई के अध्यक्ष जीतू वघानी और अन्य वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में भाजपा में शामिल किया गया।

भाजपा को मिलेगी मजबूती- 

जीतू वघानी ने भाजपा में इन पांच विधायकों के शामिल होने के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि उनकी उपस्थिति से स्थानीय स्तर पर पार्टी को मजबूती मिलेगी। उन्होंने यह विश्वास भी जताया कि भाजपा उन निर्वाचन क्षेत्रों में उपचुनाव जीतेगी, जो उनके इस्तीफे के कारण खाली हुए हैं।

कांग्रेस पार्टी पर लगाया यह आरोप- 

कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाते हुए वघानी ने कहा कि विधायकों ने पार्टी में आंतरिक गुटबाजी और राज्य में विपक्षी पार्टी के साथ-साथ राष्ट्रीय स्तर पर नेतृत्व की कमी के कारण कांग्रेस छोड़ी है। इससे पहले भी कांग्रेस के विधायक राज्य में इस्तीफा देकर एक बार नहीं बल्कि कई बार भाजपा में शामिल हुए हैं। इसके बावजूद कांग्रेस पार्टी बार बार बीजेपी को दोष देती रहती है। जबकि पार्टी अपने विधायकों के इस्तीफे के लिए खुद जिम्मेदार है।

इस राज्य में दुकानों, होटलों, बैंकों को जारी हुई चेतावनी, उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई

कांग्रेस के पास गुजरात में इतनी हैं विधानसभा की सीटें- 

तीन अन्य पूर्व कांग्रेस विधायक सोमा पटेल, प्रवीण मारू और मंगल जावित जिन्होंने मार्च में कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। इनको लेकर वघानी ने कहा कि इन तीनों पूर्व विधायकों का भी भाजपा में शामिल होने पर स्वागत होगा। कांग्रेस पार्टी ने 2017 के विधानसभा चुनावों में 77 सीटें जीती थी। इनमें से अब तक 12 विधायकों के इस्तीफा देने के बाद राज्य में पार्टी 65 सीटों पर सिमट गई है। जिन विधायकों ने कांग्रेस से इस्तीफा दिया उनमें से कई भाजपा में शामिल हो गए हैं।

यूपी बॉर्ड टॉपर्स को योगी सरकार देगी ये ईनाम, नतीजों से खुश योगी सरकार

ताजा खबरें