घुमने के शौकिन हैं तो यह खबर जरुर पढ़े, इस राज्य ने किया है यह ऐलान

राज्य ने बिना ई-पास के यात्रा करने के नियम को बुद्धवार को हरी झंडी दिखा दी है। मंगलवार को मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया।

Updated On: Sep 16, 2020 11:22 IST

Dastak Web Team

Photo Source: Pxhere.com

मार्च से लॉकडाउन होने के कारण घूम्मकण लोग घर में बंद हो गए। अनलॉक होने के बाद भी कई ऐसे नियम हैं। जिनका पालन करने के बाद ही कोई एक राज्य से दूसरे राज्य में प्रवेश कर सकता है। हिमाचल जो अपने टूर एंड ट्रेवल्स के लिए मशहूर है। उसमें भी पर्यटकों पर कई तरह की पाबंदी लगी हुई थी। जिसमें राज्य में घूमने के लिए ई-पास अनिवार्य था। लेकिन अब इस नियम को खत्म कर दिया गया है।

राज्य ने बिना ई-पास के यात्रा करने के नियम को बुद्धवार को हरी झंडी दिखा दी है। मंगलवार को मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया। इससे पहले मंत्रिमंडल ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 15 सितंबर तक रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया जारी रखने का फैसला किया था।

आपका बच्चा भी लेता है ऑनलाइन क्लास? हो सकता है इस भयंकर बीमारी का शिकार

कोई भी व्यक्ति बिना ई-पास के कर सकता है भ्रमण

अब कोई भी व्यक्ति चाहे वह हिमाचल प्रदेश का निवासी हो या पर्यटक हो, ई-पास के बिना राज्य में प्रवेश कर सकता है। इससे पहले भी 10 सितंबर को ऐसा ही फैसला लिया गया था। सरकार ने 10 सितंबर को राज्य के सभी बड़े मंदिरों को खोलने की अनुमति दे दी थी। जिसमें बिलासपुर जिले में नैना देवी का लोकप्रिय मंदिर, ऊना जिले में चिंतपूर्णी, हमीरपुर जिले में बाबा बालक नाथ, कांगड़ा जिले में ब्रजेश्वरी देवी, ज्वालाजी और चामुंडा देवी और शिमला जिले में भीमाकली और हटकेश्वरी शामिल है। -आईएएनएस

बेरोजगारी के इस मौसम आई खुशखबरी, यहां मिलेंगी सीधे 70 हजार लोगों को नौकरी

ताजा खबरें