दिल्ली में मोबाइल एप्प द्वारा शराब की होम डिलिवरी को मिली अनुमति, जान लें क्या है नियम

दिल्ली में शराब की होम डिलिवरी को अब अनुमती मिल गई है। राजधानी में मोबाइल एप्प और वेबसाइटों को घरों तक शराब की डिलिवरी के लिए एक्साइज नियमों को संशोधित किया गया है।

Updated On: Jun 1, 2021 12:28 IST

Ajay Chaudhary

Photo Source: Google

दिल्ली में शराब की होम डिलिवरी को अब अनुमती मिल गई है। राजधानी में मोबाइल एप्प और वेबसाइटों को घरों तक शराब की डिलिवरी के लिए एक्साइज नियमों को संशोधित किया गया है। दिल्ली के नए एक्साइज (संशोधित) नियम, 2021 के तहत एल-3 लाइसेंस हॉल्डर लोगों के घरों पर शराब की डिलिवरी कर सकते हैं।

सिर्फ घरों में ही हो सकती है डिलिवरी, अन्य संस्थानों में नहीं-

फार्म एल-13 के रुप में दिल्ली में घरेलू या विदेशी शराब को मोबाइल एप्प या वेबसाइट के माध्यम से ऑर्डर मिलने पर शराब डिलिवर करने का लाइसेंस अब मिल रहा है। इस लाइसेंस के मुताबिक शराब की डिलीवरी केवल लोगों के घरों पर ही की जा सकती है वो भी तब जब ऑनलाइन वेब पोर्टल या एप्प पर ऑर्डर ग्राहक की तरफ से आया हो। किसी भी हॉस्टल, ऑफिस या संस्थान में शराब की डिलीवरी नहीं की जाएगी।

केवल एल-13 लाइसेंस धारकों को डिलिवरी की छूट-

हालांकि इस नियम का मतलब ये भी नहीं है कि दिल्ली में मौजूद शराब के ठेके तुरंत पूरे शहर में शराब की डिलीवरी के लिए अधिकृत हो जाएंगे। केवल एल-13 लाइसेंसधारी व्यापारियों को ही होम डिलीवरी करने की छूट दी गई है।

पिछले नियमों के मुताबिक होम डिलीवरी को राजधानी में पूर्ण रुप से प्रतिबंधित नहीं किया गया था। पहले भी एल-13 लाइसेंसे धारकों को ई-मेल या फैक्स के माध्यम से प्राप्त होने वाले ऑर्डरों पर ही घरों में इस तरह की डिलीवरी करने की छूट दी गई थी। लेकिन राजधानी में शराब की होम डिलीवरी से बचा जा रहा था।

सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से होम डिलिवरी की व्यवस्था पर विचार को कहा था-

पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने इस बात पर गौर किया था कि शराब की दुकानों के बाहर लंबी लाइनें लगी है, ऐसे में सरकार को शराब की होम डिलीवरी पर विचार करना चाहिए। कोर्ट कोरोना काल में शराब की दुकान के बाहर भारी बीड को देखते हुए संक्रमण फैलने के खतरे को लेकर चिंतित था।

ममता ने खेला मास्टर स्ट्रोक, मुख्य सचिव को केंद्र के पास नहीं जाने दिया

खुले में शराब परोस सकेंगे रेस्तरां-

इसके साथ ही इससे संबधित एक ओर नियम के मुताबिक अब रेस्तरां, क्लब, बार और होटलों के बार को खुले स्थान पर शराब परोसने की अनुमति मिल गई है। जिसमें छत, बालकनी और आंगन जैसे स्थान शामिल है।

बाबा रामदेव ने कहा कि वे डॉक्टरों और एलोपैथी का सम्मान करते हैं, डॉक्टर बना रहे हैं काला दिवस

ताजा खबरें