प्रशांत किशोर की वायरल ऑडियो का जानें सच, जिसके अनुसार बीजेपी बंगाल चुनाव जीत रही है

प्रशांत किशोर ये कहते हुए सुने जा सकते हैं कि "अगर वोट हैं तो मोदी के नाम पर वोट हैं, हिंदू होने के नाम पर वोट हैं। ध्रुवीकरण, मोदी, हिन्दभाषी, एससी, ये फेक्टरस हैं।

Updated On: Apr 10, 2021 17:15 IST

Dastak

Photo Source: Twitter

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने एक ऑनलाईन चैट के दौरान कहा कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की जीत हो रही है। प्रशांत वायरल ऑडियो क्लिप में ये कहते हुए सुनाई दिए कि पीएम नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल में काफी लोकप्रिय हैं। भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने प्रशांत किशोर की इस वायरल वीडियो को शेयर किया है।

भारतीय जनता पार्टी द्वारा ये ऑडियो उस समय वायरल की गई है जब बंगाल में चौथे चरण का मतदान चल रहा है। अमित मालविया के अनुसार तृणमूल कांग्रेस चुनाव जीतेन से काफी दूर है। टीएमसी के आंतरिक सर्वेक्षण के अनुसार, अमित मालवीय ने ट्वीट के कई अंशों को ट्वीट करते हुए कहा कि प्रशांत किशोर ने पश्चिम बंगाल चुनावों में टीएमसी की हार को स्वीकार किया है।

अमित मालवीय सहित तजिंदर सिंह बग्गा और कई अन्य भाजपा नेताओं द्वारा ट्वीट किए गए लीक ऑडियो में, प्रशांत किशोर को यह कहते हुए सुना जाता है कि पीएम मोदी पश्चिम बंगाल में सीएम ममता बनर्जी की तरह ही लोकप्रिय हैं।

प्रशांत ऑडियो में क्या कहते सुने जा रहे हैं? 

प्रशांत किशोर ये कहते हुए सुने जा सकते हैं कि "अगर वोट हैं तो मोदी के नाम पर वोट हैं, हिंदू होने के नाम पर वोट हैं। ध्रुवीकरण, मोदी, हिन्दभाषी, एससी, ये फेक्टरस हैं। प्रशांत कह रहे हैं कि सुवेंदु अधिकारी के तृणमूल कांग्रेस से बाहर निकलने और पश्चिम बंगाल चुनाव के लिए ममता बनर्जी को सलाह देने जैसे कारकों का इस चुनाव में बहुत कम प्रभाव पड़ेगा। प्रशांत किशोर ने कहा कि दलित और मथुआ समुदाय विशेष रूप से भाजपा को वोट दे रहे हैं, यह एक बहुत मुख्य कारक है।

प्रशांत ऑडियो में कह रहे हैं "सुवेन्दु चला गया या प्रशांत चला गया। उसका कोई मुद्दा नहीं है। मोदी यहां पॉपुलर हैं। दलित यहां 27 प्रतिशत हैं और वो पूरी तरह से बीजेपी के साथ खड़े हैं। साथ में यहां ध्रुविकरण भी है।

जब प्रशांत से पूछा गया कि पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी लोकप्रिय क्यों हैं, तो प्रशांत किशोर कहते हैं: "देश भर में मोदी के बारे में एक पंथ है। कुछ प्रतिशत लोग मोदी को भगवान के रूप में देखते हैं। बंगाल में, हिंदी भाषी आबादी मोदी के साथ है। सत्ता विरोधी भावना राज्य सरकार के खिलाफ लोगों में है केंद्र के खिलाफ नहीं।

बंगाल में मोदी इसलिए भी लोकप्रिय हैं क्योंकि वहां के लोगों ने अभी तक भाजपा का स्वाद नहीं चखा है। यहां के लोगों को लगता है कि भाजपा कुछ ऐसा कर दिखाएगी जो यहां के लोगों ने पिछले 30 सालों में भी नहीं देखा है। लोगों में तृणमूल कांग्रेस के प्रति एक गुस्सा है। जो बीजेपी के बंगाल में आगे बढ़ने के पीछे एक बड़ा कारक है।

प्रशांत किशोर ने दी सफाई-

बीजेपी के दावों का जवाब देते हुए, प्रशांत किशोर ने ट्विट कर जवाब देते हुए कहा कि इन्होंने केवल ऑडियो का छोटा सा हिस्सा जारी किया है। मैं दोहराता हूं कि भाजपा पश्चिम बंगाल में 100 से अधिक सीटों को पार नहीं करेगी। प्रशांत किशोर कटाक्ष करते हुए कहते हुए कहते हैं कि पार्टी उनके शब्दों को अपने नेताओं की तुलना में अधिक गंभीरता से लेते हैं।

"मुझे खुशी है कि बीजेपी अपने नेताओं के शब्दों की तुलना में मेरी चैट को अधिक गंभीरता से ले रही है!" उन्हें इसके कुछ हिस्सों के चुनकर उत्साहित होने के बजाए पूरी ऑडियो सुनने का साहस भी दिखाना चाहिए और उसे साझा भी करना चाहिए।

एक टीवी चैनल को जवाब देते हुए प्रशांत किशोर ने साफ किया कि उनसे सवाल पूछा गया था कि भाजपा को लगभग 40 प्रतशत वोट कैसे मिल रहे हैं? इसके जवाब में वो बता रहे थे कि कौन भाजपा को वोट दे रहा है और ये धारणा क्यों है कि बीजेपी जीत रही है।

महिला खतना- धार्मिक कर्मकांड के नाम पर महिलाओं को प्रताड़ित किया जा रहा है?

वहीं इस चैट का हिस्सा रही एक अन्य पत्रकार साक्षी जोशी ट्वीटर पर लिखती हैं कि मैं इस पूरी बातचीत की साक्षी रही हूं। जिसमें पहला प्रशांत किशोर कहते हैं कि ममता जीत रही हैं। दूसरा मोदी वहां पॉपुलर नेता हैं और वोट उन्हीं के नाम पर मिल रही हैं। तीसरा महिलाएं ममता के साथ हैं। अगर महिलाएं आगे बढ़ती हैं तो ममता की सीटें 200+ होंगी और बीजेपी की सीटें 100 से कम होंगी। तथ्यों को बदला नहीं जा सकता।

ताजा खबरें