Lunar Eclipse 2021: जानें, कब लगेगा इस साल का पहला चंद्रग्रहण, क्या है सूतक काल

Lunar Eclipse 2021: साल 2021 की शुरुआत होते ही इस साल लगने वाले चंद्रग्रहण (Lunar Eclipse 2021) को लेकर चर्चाएं तेज हो गई है। आखिर इस साल का चंद्रग्रहण कब लगेगा और इसका सूतक काल का समय क्या होगा।

Updated On: Mar 19, 2021 12:11 IST

Dastak Online

Photo Source: Twitter

Lunar Eclipse 2021: साल 2021 की शुरुआत होते ही इस साल लगने वाले चंद्रग्रहण (Lunar Eclipse 2021) को लेकर चर्चाएं तेज हो गई है। आखिर इस साल का चंद्रग्रहण कब लगेगा और इसका सूतक काल का समय क्या होगा। और किस देश में दिखाई देगा, ऐसे कई सवाल लोगों के मन में आ रहे हैं। इसी के साथ, इस साल कितने चंद्रग्रहण लगेंगे, इसको लेकर भी कई सवाल हैं।

चंद्रग्रहण तब लगता है जब पृथ्वी, सूर्य और चंद्रमा के बीच आ जाती है। और इस स्थिति में पृथ्वी की छाया से चंद्रमा ढंक जाता है। इसी खगोलीय स्थिति को चंद्रग्रहण कहा जाता है। ऐसा तब होता है जब सूर्य, पृथ्वी और चन्द्रमा इसी क्रम में एक साथ सीधी रेखा में अपनी चाल चलते हैं।

Lunar Eclipse 2021: कब है साल का पहला चंद्रग्रहण-

इस साल दो चंद्रग्रहण लग रहे हैं। इस साल का पहला चंद्रग्रहण 26 मई 2021 को लगेगा। ये चंद्रग्रहण वैशाख मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को लगने जा रहा है। ये चंद्रग्रहण 26 मई को दोपहर 2 बजकर 17 मिनट पर शुरू होगा। और शाम 7 बजकर 19 मिनट पर खत्म हो जाएगा। जबकि इस साल का दूसरा चंद्रग्रहण 19 नवंबर 2021 को लगेगा।

Lunar Eclipse 2021: क्या है पहले चंद्रग्रहण का सूतक काल-

चंद्रग्रहण शुरू होने से पहले के सबसे समय को सूतक काल कहा जाता है। इस सूतक काल के समय कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, चंद्र ग्रहण से 9 घंटे पहले सूतक काल शुरू हो जाता है और चंद्रग्रहण के साथ ही ये सूतक काल खत्म हो जाता है। वैसे ये ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा इसलिए ये चंद्र ग्रहण उपछाया ग्रहण है। और इस वजह से भारत में इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा।

NEET PG 2021: आज से खुली करेक्शन विंडो, nbe.edu.in पर जाकर करें आवेदन पत्र में सुधार

Lunar Eclipse 2021: किन- किन देशों में देगा दिखाई-

इस साल का पहला चंद्रग्रहण भारत के साथ- साथ अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, एशिया और प्रशांत महासागर क्षेत्र में दिखाई देगा। लेकिन भारत में ये उपछाया चंद्रग्रहण होगा, जबकि अन्य देशों में ये पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा। इसलिए इसे भारत में नहीं देखा जा सकेगा। हालांकि, इसकी उपछाया को देखा जा सकेगा।

COVID-19 Update: इन राज्यों में सबसे अधिक मामले, एक दिन में सामने आये 40 हजार के करीब नए मामले

 

ताजा खबरें