जेल में सत्येंद्र जैन की मसाज पर मनीष सिसोदिया ने कही बड़ी बात, बीजेपी ने भी किया पलटवार

मनीष सोदिया ने वीडियो जारी होने पर बीजेपी पर पलटवार करते हुए कहा कि सत्येंद्र जैन जेल में मसाज नहीं थैरेपी ले रहे थे। उनकी अस्पताल में दो सर्जरी हुई है, जिसके बाद उन्हें ये थैरेपी डॉक्टरों की सलाह पर दी जा रही थी।

Updated On: Nov 19, 2022 12:46 IST

Dastak

Photo Source- Twitter (Edited By Dastak)

अरविंद केजरीवाल की दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन की जेल में मसाज की वीडियो सामने आने के बाद मनीष सिसोदिया का बयान सामने आया है। सिसोदिया ने वीडियो जारी होने पर बीजेपी पर पलटवार करते हुए कहा कि सत्येंद्र जैन जेल में मसाज नहीं थैरेपी ले रहे थे। क्योंकि इससे पहले उनकी अस्पताल में दो सर्जरी हुई है जिसके बाद उन्हें ये थैरेपी डॉक्टरों की सलाह पर दी जा रही थी। सिसोदिया के अनुसार जैन कोई मसाज पार्लर वाली मसाज नहीं ले रहे थे जबकि वो इलाज के रूप में थेरेपी ले रहे थे। हालांकि बीजेपी ने भी सिसोदिया के इस बयान पर पलटवार किया है।

बीजेपी गुजरात चुनाव हार की डर से कर रही ऐसा-

सिसोदिया ने शनिवार को प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए ये जवाब दिए हैं, उनके अनुसार बीजेपी इस वीडियो के आधार पर बेमतलब का तूल इस इलाज को दे रही है, उन्हें शर्म आनी चाहिए कि कोई व्यक्ति बीमार है और वो इस तरह वीडियो जारी कर उसका मजाक बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी गुजरात चुनाव हार रही है इसलिए वो हड़बड़ाहट में इस तरह के झूठे हथकंडे अपना रही है जिससे आम आदमी पार्टी को बदनाम किया जा सके। उन्होंने सत्येंद्र जैन को मंत्री पद से बर्खास्त न किए जाने के सवाल के जवाब में कहा कि वो जैन का मंत्री पद से इस्तीफा कतई नहीं लेंगे, क्योंकि बीजेपी यही चाहती है। उन्होंने सत्ता का दुरुपयोग करते हुए एक ईमानदार मंत्री को ईडी का सहारा ले झूठे आरोपों में जेल के अंदर ठूंस दिया है, हम उनका इस्तीफा नहीं लेंगे, उन पर लगे सभी आरोप झूठे साबित होंगे और वो बाइज्जत कोर्ट से बरी होकर जेल से बाहर आएंगे।

वीडियो जारी करना कोर्ट के आदेश के खिलाफ-

सिसोदिया ने जेल की वीडियो जारी करने पर भी बीजेपी को घेरा है, उनके अनुसार ईडी ने ये वीडियो जैन पर आरोप लगाते हुए कोर्ट में पेश किया था जिस पर कोर्ट ने इस वीडियो को लीक न करने का ईडी को आदेश दिया था। ऐसे में ये कोर्ट के आदेश की अवमानना भी है, हम इसके खिलाफ कार्यवाही करेंगे। उन्होंने कहा कि एक केंद्रीय जांच एजेंसी एक राजनीतिक दल को चुनाव में फायदा पहुंचाने के लिए वीडियो लीक कर कैसे दे सकती है। जेल में बाहरी व्यक्ति के घुसने के आरोप पर सिसोदिया ने जवाब दिया कि बीजेपी को जेल मेन्युअल को पढ़ना चाहिए, किसने कहा कि जेल में बंद व्यक्ति से कोई अन्य व्यक्ति नहीं मिल सकता। उनके अनुसार सभी नियमों के अनुसार हुआ है।

बीजेपी ने किया वीडियो पर पलटवार-

वहीं बीजेपी की तरफ से प्रवक्ता गौरव भाटिया ने मनीष सिसोदिया पर पलटवार किया है। भाटिया ने कहा है कि जेल में बंद एक अपराधी को वहां वीआईपी ट्रीटमेंट दिया जा रहा था और आम आदमी पार्टी उसके बचाव में लगी है। उनके अनुसार ये जेल के मेन्युअल और कानून का उल्लंघन है, इस मामले में उन्हें न्यायालय से कोई रिलीफ नहीं मिलेगा। केजीरवाल सरकार अपराधियों को संरक्षण और उन्हें वीवीआईपी ट्रीटमेंट दे रही है। भाटिया ने कहा कि अपराधी के साथ किसी तरह की नरमी नहीं बरती जाएगी, इतिहास के पन्नों में आम-आदमी पार्टी बेईमान करार दी जाएगी।

भाटिया ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी दिल्ली में केजरीवाल के भ्रष्टाचार के कूडे पर एमसीडी चुनाव लड़ रही है, वो इस चुनाव में भ्रष्टाचारियों को दिल्ली से बाहर निकाल फेंकने का काम करेगी। उन्होंने कहा कि मनीष सिसोदिया सत्येंद्र जैन की ब्लैकमेलिंग के दबाव में है, इसलिए उन्हें निलंबित करने की हिम्मत केजरीवाल सरकार की नहीं हो रही है।

क्या है मामला-

आम आदमी पार्टी के जेल में बंद स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का जेल में मसाज कराने का एक वीडियो सामने आया है। भारतीय जनता पार्टी इस वीडियो को ट्विटर पर प्रसारित कर सवाल पूछ रही है कि ये कैसी आम आदमी पार्टी है जिसके मंत्री जेल में भी वीआईपी ट्रीटमेंट ले रहे हैं। जैन इन दिनों दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद हैं, ये वीडियो थोड़ा पुराना है, जिसमें जेल की कोठरी में जैन मसाज ले रहे हैं और उन्हें वहां बेड भी दिया गया है।

इस वीडियो के आने से पहले ही तिहाड़ जेल के अधीक्षक अजीत कुमार को आप नेता को वीआईपी ट्रीटमेंट देने के आरोप में निलंबित भी किया जा चुका है। तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने मीडिया को जानकारी दी है कि ये वीडियो पुराना है और इस मामले में पहले ही संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्यवाही की जा चुकी है।

तिहाड़ में बंद केजरीवाल के मंत्री सत्येंद्र जैन करवा रहे मसाज, बीजेपी ने जारी किया वीडियो

इस वीडियो के आने से पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आरोप लगाया था कि जेल में बंद किए गए सत्येंद्र जैन को वहां वीआईपी ट्रीटमेंट दिया जा रहा है जोकि गलत है। जैन को जेल में सिर, पैर और पीठ मसाज और मालिश जैसा वीआईपी ट्रीटमेंट दिया जा रहा है। जांच एजेंसी ने इस संबंध में सबूत जुटाकर कोर्ट के सामने भी पेश किए थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ईडी की तरफ से कोर्ट में शामिल हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू ने कहा कि जैन को जेल के अंदर एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा हाथों और पैरों की मसाज दी जा रही थी, कर्फ्यू के समय में भी जेल में ये सुविधा दी जा रही थी। उन्हें जेल में जो खाना दिया जा रहा था वो भी बाकी कैदियों से अलग और विशेष था।

इस बात को साबित करने के लिए एसवी राजू ने कोर्ट में कुछ सीसीटीवी फुटेज भी जारी किए थे, जिसमें वो बता रहे थे कि जैन अधिकतर समय या तो अस्पताल में होते हैं या फिर जेल में और इस समय में वो वीआईपी सुविधाओं का आनंद उठा रहे हैं।

ताजा खबरें