तिहाड़ में बंद केजरीवाल के मंत्री सत्येंद्र जैन करवा रहे मसाज, बीजेपी ने जारी किया वीडियो

ईडी की तरफ से कोर्ट में शामिल हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू ने कहा कि जैन को जेल के अंदर एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा हाथों और पैरों की मसाज दी जा रही थी, कर्फ्यू के समय में भी जेल में ये सुविधा दी जा रही थी।

Updated On: Nov 19, 2022 11:04 IST

Dastak

Photo Source - Video grab from twitter

आम आदमी पार्टी के जेल में बंद स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का जेल में मसाज कराने का एक वीडियो सामने आया है। भारतीय जनता पार्टी इस वीडियो को ट्विटर पर प्रसारित कर सवाल पूछ रही है कि ये कैसी आम आदमी पार्टी है जिसके मंत्री जेल में भी वीआईपी ट्रीटमेंट ले रहे हैं। जैन इन दिनों दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद हैं, ये वीडियो थोड़ा पुराना है, जिसमें जेल की कोठरी में जैन मसाज ले रहे हैं और उन्हें वहां बेड भी दिया गया है।

इस वीडियो के आने से पहले ही तिहाड़ जेल के अधीक्षक अजीत कुमार को आप नेता को वीआईपी ट्रीटमेंट देने के आरोप में निलंबित भी किया जा चुका है। तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने मीडिया को जानकारी दी है कि ये वीडियो पुराना है और इस मामले में पहले ही संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्यवाही की जा चुकी है।

इस वीडियो के आने से पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आरोप लगाया था कि जेल में बंद किए गए सत्येंद्र जैन को वहां वीआईपी ट्रीटमेंट दिया जा रहा है जोकि गलत है। जैन को जेल में सिर, पैर और पीठ मसाज और मालिश जैसा वीआईपी ट्रीटमेंट दिया जा रहा है। जांच एजेंसी ने इस संबंध में सबूत जुटाकर कोर्ट के सामने भी पेश किए थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ईडी की तरफ से कोर्ट में शामिल हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू ने कहा कि जैन को जेल के अंदर एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा हाथों और पैरों की मसाज दी जा रही थी, कर्फ्यू के समय में भी जेल में ये सुविधा दी जा रही थी। उन्हें जेल में जो खाना दिया जा रहा था वो भी बाकी कैदियों से अलग और विशेष था।

इस बात को साबित करने के लिए एसवी राजू ने कोर्ट में कुछ सीसीटीवी फुटेज भी जारी किए थे, जिसमें वो बता रहे थे कि जैन अधिकतर समय या तो अस्पताल में होते हैं या फिर जेल में और इस समय में वो वीआईपी सुविधाओं का आनंद उठा रहे हैं।

एम्स में मरीजों को अब इलाज़ के लिए नहीं लगना पड़ेगा लंबी-लंबी कतारों में

बीजेपी के विभिन्न नेता अब केजरीवाल पर सवाल दाग रहे हैं कि क्या केजरीवाल अब अपने मंत्री के इस वीआईपी ट्रीटमेंट का बचाव कर सकते हैं? क्या केजरीवाल को उस मंत्री को बर्खास्त नहीं करना चाहिए? क्या यही आम आदमी पार्टी का असली चेहरा है?

हालांकि आम आदमी पार्टी इससे पहले जैन को जेल में मिले वीआईपी ट्रीटमेंट के आरोपों को खारिज कर चुके हैं लेकिन अब उनके सामने समस्या ये है कि वो सीसीटीवी फुटेज को कैसे झुठलाएं। बीजेपी गुजरात चुनाव के मध्यनजर आम-आदमी पार्टी पर बेहद आक्रामक हमले कर रही है लेकिन अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी इन हमलों के बावजूद गुजरात में बीजेपी के खिलाफ मजबूती से मोर्चा संभाले हुए है।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं सहमत नहीं हूं , राहुल गांधी की टिप्पणियों से

ताजा खबरें