दिल्ली वालो के लिए अब राहत, 31 मई से धीरे-धीरे अनलॉक होगी राजधानी

दिल्ली वालों के लिए अब राहत की ख़बर है, राजधानी में कोविड19 के मामले अब कम होते जा रहे हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने फ़ैसला लिया है कि 31 मई से धीरे-धीरे दिल्ली को अनलॉक किया जाएगा।

Updated On: May 28, 2021 19:14 IST

Dastak

Photo Source: Social Media

नाजिश खान

दिल्ली वालों के लिए अब राहत की ख़बर है, राजधानी में कोविड19 के मामले अब कम होते जा रहे हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने फ़ैसला लिया है कि 31 मई से धीरे-धीरे दिल्ली को अनलॉक किया जाएगा। दिल्ली को एकसाथ पूरा अनलॉक नहीं किया जाएगा क्योंकि इससे लोगों को फिर से कोरोना संक्रमण तेजी से फैल सकता है। उपराज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता के साथ हुई मीटिंग में ये फैसला लिया गया है। इसके आलावा दिल्ली सरकार ने कहा कोरोना के रैंडम टेस्ट भी किए जाएंगे।

दिल्ली में पूर्ण लॉकडाउन 31 मई की सुबह 5 बजे तक होगा, उसके बाद दो गतिविधि को खोला जाएगा। सुबहा 5 बजे के बाद कंस्ट्रक्शन गतिविधियां शुरू हो जाएगी, लेकिन मॉल, मार्केट मल्टीप्लेक्स, बंद रहेंगे और फैक्ट्रियां 5 बजे के बाद खुल जाएगी। इसके अलावा फैक्ट्री तो खुलेंगी लेकिन साथ ही दिल्ली सरकार ने कुछ शर्तें भी रखी है। जैसे मजदूरों को परिसर के अंदर ही काम करना होगा, खुली जगह पर काम करने की इजाज़त नहीं दी जाएगी। सिर्फ उन मजदूरों को काम करने की इजाज़त दी जाएगी जो कोरोना संक्रमित नहीं होंगे।

वर्क प्लेस पर कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना होगा, थर्मल स्क्रीनिंग, हैंड सैनिटाइजर, मास्क अनिवार्य होगा, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा और कर्मचारियों को ई-पास भी दिया जाएगा। दिल्ली में रहने वाले प्रवासी मजदूर गरीब लोगों को ध्यान में रख कर ये फैसला लिया गया है, जिससे उन्हें रोज़गार मिल सके। दिल्ली सरकार का कहना है कि बड़ी मुश्किल से कोरोना काबू में आया है, लेकिन अभी पूरी लड़ाई जीती नहीं है। केजरीवाल ने कहा कि हमें बैलेंस करके चलना होगा।

रणदीप हुड्डा की उत्तरप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती पर की टिप्पणी वायरल, गिरफ्तारी की मांग

ऐसा ना हो कि लॉकडाउन की वजह से भुखमरी फैलना शुरू हो जाए, एक तरफ कोरोना से निपटना होगा और एक तरफ आर्थिक गतिविधियों को साथ साथ चलाना होगा। और ज़रूरत पढ़ने पर ही घर से बाहर निकलें। एक्सपर्ट का मानना है कि धीरे-धीरे दिल्ली अनलॉक किया जाए जनता और एक्सपर्ट के सुझावों के आधार पर धीरे-धीरे प्रक्रिया जारी रखेंगे। पर शर्त है को कोरोना फिर से न बढ़े अगर बीच में बढ़ने लगा तो फिर से गतिविधियों पर रोक लगाना पढ़ जाएगा।

Pfizer का दावा: उसकी वैक्सीन भारत में मौजूद कोविड वेरिएंट और भारतीय लोगों पर अधिक प्रभावशाली

ताजा खबरें