प्रधानमंत्री डीएम संवाद: पीएम मोदी ने डीएम को दिए टास्क, कहा जिला जीतेगा तो देश जीतेगा

प्रधानमंत्री मोदी के अनुसार अगर जिले के डीएम चौकस हों तो वहां के लोगों को कम परेशानी होती। लेकिन अब पीएम ने डीएम को टास्क दिए हैं।

Updated On: May 20, 2021 17:35 IST

Dastak

Photo Source: Twitter

नाजिश खान

कोरोना की दूसरी लहर अब शहरों में कंट्रोल हो रही है, लेकिन गांव में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। शहरों में ऑक्सीजन बेड की किल्लत कम हो रही है, वहीं दूसरी ओर गांव में ऑक्सीजन बेड की ज़रूरत बढ़ रही है। गांव में आबादी ज़्यादा है और लोग इस बीमारी से कम जागरूक हैं। देश के प्रधानमंत्री का कहना है कि अब गांव में कोरोना फैलने से रोकना है, चुनौती बड़ी है, लेकिन पीएम के अनुसार हमारा फैसला उससे भी बड़ा है। इसी इरादे और संकल्प के साथ हम देश को इस संकट से बाहरप निकालेंगे।

कोरोना कंट्रोल की प्लानिंग प्रधानमंत्री, राज्य के सीएम के ज़रिए एक्जिक्यूट करवा रहे थे। केंद्र की गाइडलाइन राज्य सरकार को मिलती थी और राज्य सरकार ज़िला अधिकारियों को उसे देती थी। अब पहली बार मोदी ने सीधे डीएम से संवाद किया और केंद्र सरकार या राज्य सरकार की ओर से कोरोना नियंत्रण करने के लिए जो गाइडलाइन दी गई है उसके अलावा जिला अधिकारी के पास कोई और नीति जिससे कोरोना पर नियंत्रण पाया जा सके, इसके लिए जिलाधिकारी को पूरी छूट दी गई है।

दिल्ली के 11 जिलों में से 8 जिलों में कोरोना डाउन हुआ है। महाराष्ट्र के 36 जिलों में से 24 जिलों में कोरोना के मामले कम हुए हैं। मध्यप्रदेश मे 52 जिलों में से 35 जिले, यूपी में 75 जिलों में से 39 जिले, तेलंगाना में 33 जिलों में से 27 जिले और बिहार में 38 जिलों में से 18 जिलों में कोरोना के मामले कम हुए हैं।

राजधानी दिल्ली में 70 सालों में इतना न्यूनतम तापमान पहली बार देखने को मिला, जानें ऐसा क्यों हुआ

प्रधानमंत्री के अनुसार अगर जिले के डीएम चौकस हों तो वहां के लोगों को कम परेशानी होती। लेकिन अब पीएम ने डीएम को टास्क दिए हैं जिनमें काले बाजारों पर लगाम लगाना, गांव में जरूरी दवाइयों का स्टॉक रखना, अस्पताल में बेड का कमांड सिस्टम बनाना, ऑक्सीजन मॉनिटरिंग कमेटी बनाना, अस्पताल में बिजली सप्लाई की दिक्कतें दूर करना, फ्रंटलाइन वर्कर्स को मोब्लाइज करना, वैक्सीन लगवाने के लिए जागरूकता बढ़ाना और वैक्सीन की बर्बादी कम से कम करना। इसके अलावा पीएम ने कहा देश की आवाम से भी आग्रह करता हूं कि कोरोना नियंत्रण करने के लिए हर प्रयास जो कारगर हो बिना संकोच मुझ तक लिख कर पहुंचाए, इसका अन्य जिलों में इसका उपयोग कैसे हो इसका विचार बनाया जाएगा। क्योंकि हर जिले की अपनी अलग अलग चुनौती है। इसलिए जिला जीतने से ही देश जीतेगा।

सरकार ने उर्वरकों पर सब्सिडी 500 रुपए से बढ़ाकर 1200 रुपए की, किसानों को पुराने रेट पर मिलेगा डीएपी

ताजा खबरें