भारत में लॉन्च हुई सेल्फ कोरोना टेस्ट किट कोविसेल्फ, अब घर बैठे टेस्ट कर लें परिणाम

भारत में उसकी पहली सेल्फ यूज रैपिड एंटीजन टेस्ट किट लॉन्च हो गई है। ये किट मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस ने बनाई है, जिसे 250 रुपए में किसी भी मेडिकल स्टोर से खरीदा जा सकेगा। इसे कोविसेल्फ नाम दिया गया है।

Updated On: May 20, 2021 19:31 IST

Dastak

Photo Source - Mylab

अब भारत में ऐसी टेस्ट किट आ गई है जिससे आप खुद घर बैठे अपना कोरोना टेस्ट ले सकते हैं। ये टेस्ट किट मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस (Mylab Discovery Solutions) ने बनाई है। कंपनी ने गुरुवार को जानकारी दी है कि उसे इसके लिए आईसीएमआर (Indian Council of Medical Research’s) से अप्रुवल मिल गया है। ये देश की पहली सेल्फ यूज रैपिड एंटीजन टेस्ट (self-use rapid antigen test) किट होगी। इस टेस्ट किट को कोविसेल्फ नाम दिया गया है।

बिना प्रिस्क्रिप्शन 250 रुपए में मिलेगी टेस्ट किट-

कंपनी के अनुसार इस टेस्ट किट को बिना किसी प्रिस्क्रिप्शन के 250 रुपए में किसी भी मेडिकल स्टोर से खरीदा जा सकेगा। कंपनी कुछ दिनों में टेस्ट किट को आपके घरों तक पहुंचाना शुरु कर देगी। मायलैब की हालिया उत्पादन क्षमता सात मिलियन टेस्ट किट प्रति सप्ताह है, जिसे कंपनी आने वाले 14 दिनों में बढ़ाकर 10 मिलियन टेस्ट किट प्रति हफ्ते करेगी।

फोन एप्प द्वारा की जाएगी टेस्ट की निगरानी-

इस टेस्ट किट की लांचिंग आईसीएमआर द्वारा अपने नए दिशानिर्देशों में सेल्फ टेस्टिंग किट को शामिल करने के बाद की गई है। हालांकि आईसीएमआर एक दम से अंधाधुंध तरीके से टेस्ट करने की सलाह भी नहीं देता है। इन सभी टेस्टों की मायलैब की मोबाइल फोन एप्लिकेशन द्वारा निगरानी की जाएगी। जिसमें टेस्ट किट इस्तेमाल कार्ताओं को कहा जाएगा कि वे अपना टेस्ट लेने के बाद टेस्ट स्ट्रीप की तस्वीर मोबाइल कैमरे में कैद कर एप्लीकेशन पर अपलोड करें।

टेस्ट प्रयोगशालाओं का दबाव होगा कम-

टेस्ट किट के मोबाइल एप्लीकेशन से जुड जाने के बाद यूजर अपना कोरोना पॉजिटिव या नेगेटिव का स्टेटस जान सकेगा साथ ही उनके ये आंकडे सीधे आईसीएमआर में जमा किए जा सकेंगे। जिससे मरीज को रिजल्ट के बाद क्या करना है उसके लिए समझाया जा सकेगा। मायलैब कंपनी के अनुसार इससे पहले से ही कोरोना परिक्षण का दबाव झेल रही प्रयोगशालाओं पर दबाव कम किया जा सकेगा। इससे टेस्टिंग में आने वाली देरी को कम किया जा सकेगा। जो फिलहाल देश के कई इलाकों में 72 घंटो से अधिक है।

अरिजीत सिंह की मां का कोरोना से हुआ निधन, कोलकाता में ली अंतिम सांस

आईसीएमआर की ताजा एडवाइजरी और मायलेब की टेस्ट किट उस समय लॉन्च हो रही है जब देश में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है और प्रयोगशालाओं पर टेस्ट करने का बहुत अधिक दबाव है। प्रयोगशालाएं इस दौरान कर्मचारियों की कमी से भी जूझ रही हैं।

राजधानी दिल्ली में 70 सालों में इतना न्यूनतम तापमान पहली बार देखने को मिला, जानें ऐसा क्यों हुआ

ताजा खबरें