सिद्धू मूसेवाला का आखरी गाना एसवाईएल यूट्यूब से इसलिए किया गया रिमूव, जानें कारण

सिद्धू मूसेवाला की मौत के बाद रिलीज़ हुए उनके आखरी गाने एसवाईएल को यूट्यूब से रिमूव कर दिया गया है। एसवाईएल का अर्थ सतलुज-यमुना लिंक नहर से है।

Updated On: Jun 26, 2022 22:05 IST

Admin

Photo Source- Social Media

सिद्धू मूसेवाला की मौत के बाद रिलीज़ हुए उनके आखरी गाने एसवाईएल को यूट्यूब से रिमूव कर दिया गया है। एसवाईएल का अर्थ सतलुज-यमुना लिंक नहर से है, 214 किलोमीटर लंबी सतलुज-यमुना लिंक नहर पंजाब और हरियाणा के बीच बीते तीन दशकों से विवाद का विषय है। पंजाबी सिंगर मूसेवाला की इसी साल मई में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद उनके द्वारा लिखे और कंपोज्ड किए गए इस गाने को यूट्यूब पर रिलीज किया गया था।

ये गीत संगीत निर्माता एमएक्सआरसीआई द्वारा शुक्रवार, 23 जून को यूट्यूब पर जारी किया गया था। हालाँकि, अब जब आप लिंक पर क्लिक करते हैं, तो यूट्यूब इस वीडियो को उपलब्ध नहीं बताता है। वहां लिखा आता है कि "सरकार की कानूनी शिकायत के कारण यह सामग्री इस देश के डोमेन पर उपलब्ध नहीं है।"

जबसे ये गाना यूट्यूब पर आया था तबसे इसे 27 मिलियन से अधिक व्यूज मिल चुके थे। इसे 3.3 मिलियन लाइक्स मिले हैं। संगीत की इस वीडियो में कई उग्रवादियों की तस्वीरें दिखाई गई हैं, जिनमें बलविंदर सिंह जटाना शामिल हैं, जिन्हें खालिस्तान समर्थक बब्बर खालसा का सदस्य कहा जाता था और जिस पर 23 जुलाई 1990 को चंडीगढ़ में एसवाईएल कार्यालय में मुख्य अभियंता एमएल सीकरी और अधीक्षक अभियंता एएस औलख की हत्या का आरोप लगाया गया था।

इसलिए हुआ यूट्यूब से सिद्धु मूसेवाला का गाना रिमूव-

पंजाब रावी-ब्यास नदी के पानी के अपने हिस्से के पुनर्मूल्यांकन की मांग कर रहा है, जबकि हरियाणा अपना हिस्सा पाने के लिए नहर को पूरा करने की मांग कर रहा है। इसलिए अनुमान लगाया जा रहा है कि सरकार ने लोगों की भावनाओं का ध्यान रखते हुए यूट्यूब से इस वीडियो को हटाने की गुहार लगाई होगी।

2000 रुपए के नोट में चिप वाली पत्रकारिता का केबीसी के प्रोमो में बना मज़ाक

सिद्धू मूसेवाला की हत्या-

पंजाब के मनसा जिले में 29 मई को गायक-राजनेता सिद्धू मूस वाला की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। सिद्धू मूस वाला की राज्य सरकार द्वारा सुरक्षा कम करने के एक दिन बाद गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उनके साथ जीप में यात्रा कर रहे उनके चचेरे भाई और एक दोस्त भी हमले में घायल हो गए।

20 साल से जमीन पर काबिज लोगों को देंगे मालिकाना हक- खट्टर

ताजा खबरें