दिल्ली में शराब कि ये दुकानें होंगी बंद!

Arvind Kejriwal, Delhi Government ने एक बड़ा अहम फैसला लेते हुए शराब सेवन की उम्र 25 से घटाकर 21 वर्ष कर दी है। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सरकार के इस फैसले के बारे में जानकारी दी। इसी को बढ़ाते हुए उन्होंने यह भी जानकारी दी कि दिल्ली सरकार अब और

Updated On: Mar 22, 2021 20:11 IST

Dastak Web 2

Photo Source : Twitter

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल की सरकार ने एक बड़ा अहम फैसला लेते हुए शराब सेवन की उम्र 25 से घटाकर 21 वर्ष कर दी है। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सरकार के इस फैसले के बारे में जानकारी दी। इसी को बढ़ाते हुए उन्होंने यह भी जानकारी दी कि दिल्ली सरकार अब और कोई शराब की नई दुकाने भी नहीं खोलेगी। उन्होंने बताया कि साल 2016 से अब तक दिल्ली सरकार ने एक भी नई शराब की  दुकान को खोलने के लिए लाइसेंस नहीं दिया है। इसी के साथ सभी सरकारी शराब की दुकानों को बंद कर दिया जाएगा और सभी मौजूदा सरकारी शराब की दुकानों को नीलाम किया जाएगा और उन्हें निजी हाथों में सौंप दिया जाएगा।

अखिलेश यादव ने होली के बहाने उत्तरप्रदेश में सरकारी नौकरियों का ऐसे बनाया मजाक

इसी के साथ अंडरएज ड्रिंकिंग के खिलाफ सरकार ने नई मुहिम की शुरुआत करने का फैसला लिया है। नई मुहिम के तहत  21 साल से कम उम्र के युवकों को अनिवार्य अपनी आईडी चेक करवानी होगी। दिल्ली सरकार ने यह भी कहा कि यदि शराब की दुकानों को लगता है कि शराब खरीदने वाले की उम्र तय उम्र से कम है, तो वो उनसे आईडी दिखाने की मांग कर सकते है। दिल्ली सरकार ने यह भी घोषणा की है कि ऐसी जगह जहां शराब मिलती हो जैसी की बार और रेस्टोरेंट वहां तय उम्र से कम के लोगों को प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। मनीष सिसोदिया ने यह भी घोषणा की है कि दिल्ली सरकार एक भी सरकारी शराब की दुकान नहीं चलाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि सरकार ने इस बारे में पब्लिक से भी सुझाव की मांग की थी। जिसमें लोगों ने 14,700 कॉमेंट किए थे। जिसके बाद ही सरकार ने यह अहम फैसला लिया है।

ISSF World Cup में इन खिलाड़ियों ने किया Gold Medal अपने नाम

उन्होंने यह भी घोषणा की, कि किसी भी शराब की दुकान के लिए कम से कम 500 वर्ग फीट दुकान का एरिया होना जरूरी है और कोई भी दुकान का मुंह सड़क की तरफ नहीं खुलना चाहिए और दुकान की ही जिम्मेदारी होगी कि वो दुकान के बाहर कानून व्यवस्था बनाए रखें, दिल्ली में जो भी शराब बेची जाएगी उसकी क्वालिटी इंटरनेशनल मानकों पर मापी जाएगी। इसी के साथ ही नकली शराब को खत्म करने के लिए दिल्ली में भारत का सबसे पहला अंतरराष्ट्रीय स्तर की चेकिंग लैब बनाई जाएगी।

आगे अपनी बात रखते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में शराब माफिया एक बड़ी चुनौती है, जिस पर काबू पाने से सरकार को 1 से 2 हजार करोड़ के रेवेन्यू का फायदा हो सकता है। इसलिए दिल्ली सरकार ने एक्साइज पॉलिसी में एक महत्वपूर्ण बदलाव किया है। दिल्ली की एक्साइज पॉलिसी में बदलाव करके उन सभी फैक्टर्स को हटाया जा सकता है जिसकी वजह से शराब माफिया अपना अवैध कारोबार अभी तक चला रहा था। मनीष सिसोदिया ने कहा कि कुछ इलाके ओवर सर्व्ड हैं और कुछ अंडरसर्विंग हैं जिसकी वजह से शराब माफिया का कारोबार चलता है। 20 फीसदी दिल्ली ओवर सर्व्ड है, जहां घरों में कारोबार चलता है। जिसे नई नियम के तहत खत्म किया जा सकता है।

ताजा खबरें