नवरात्रि के पहले दिन हिमाचल के मंदिरों में उमड़ी हजारों श्रद्धालुओं की भीड़

कोविड-19 महामारी के बीच, शनिवार से शुरू नवरात्रि के पहले दिन हिमाचल प्रदेश के मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। ऊना जिले के चिंतपूर्णी मंदिर के एक अधिकारी, जीवन कुमार ने फोन पर आईएएनएस को बताया कि पर्व के मद्देनजर कोरोनावायरस प्रसार को रोकने के लिए आवश्यक व्यवस्था की गई है।

Updated On: Oct 17, 2020 11:31 IST

Dastak Web 1

Photo Source: google

कोविड-19 महामारी के बीच, शनिवार से शुरू नवरात्रि के पहले दिन हिमाचल प्रदेश के मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। ऊना जिले के चिंतपूर्णी मंदिर के एक अधिकारी, जीवन कुमार ने फोन पर आईएएनएस को बताया कि पर्व के मद्देनजर कोरोनावायरस प्रसार को रोकने के लिए आवश्यक व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि मंदिर रोजाना सुबह 5 बजे से रात 11 बजे तक श्रद्धालुओं के लिए खुला रहेगा। उन्होंने कहा कि वह हर दिन 15,000-20,000 से अधिक लोगों के आने की उम्मीद कर रहे हैं।

डोनाल्ड ट्रंप ने क्यों कहा- अगर बाइडन चुनाव जीते तो शायद मुझे देश छोड़ना पड़ेगा

इसके अलावा बिलासपुर जिले में नैना देवी मंदिर, कांगड़ा जिले में ज्वालाजी और चामुंडा देवी मंदिर, हमीरपुर जिले में बाबा बालक नाथ मंदिर, और शिमला जिले में भीमाकाली और हाटेश्वरी मंदिरों में हजारों भक्तों की भीड़ उमड़ी है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि सभी प्रमुख मंदिरों में भीड़ का प्रबंधन करने के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं और क्लोज सर्किट टेलीविजन (सीसीटीवी) कैमरे लगाए गए हैं।

ऑनलाइन प्रसाद भी ले सकेंगे

कोरोनावायरस के प्रकोप के कारण लगभग छह महीने तक बंद रहने के बाद 10 सितंबर को राज्य के मंदिरों को फिर से खोल दिया गया। जो लोग मंदिर नहीं जा सकते, उन्हें सरकार ने ब्रजेश्वरी देवी, नैना देवी, चिंतपूर्णी और ज्वालाजी मंदिरों के ऑनलाइन 'दर्शन' दर्शन करने की सलाह दी है। वे ऑनलाइन प्रसाद भी ले सकेंगे। इसके अलावा प्रसिद्ध मंदिर माता चिंतपूर्णी ने जुलाई में इंडिया पोस्ट के माध्यम से 'प्रसाद भोग' की होम डिलीवरी भी शुरू की थी।

--आईएएनएस

वीएवी

उत्तर प्रदेश: बस और पिकअप की हुई जबरदस्त टक्कर, 7 लोगों की मौत

ताजा खबरें