कूनो मे दो नर चीतों ने रिहा होते ही 24 घंटो के भीतर ही किया पहला शिकार

फ्रेडी और एल्टन वह पहली जोड़ी है जिन्हें 5 नवंबर को 50 दिनों के लिए सबसे अलग रखने के बाद बड़े बाडे़ मे छोड़ा गया था।

Updated On: Nov 7, 2022 21:09 IST

Dastak Web Team

Photo Source- PMO India

मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में छोडे गए दो नर चीतों ने 24 घंटे के भीतर अपना पहला शिकार कर लिया है। अपने क्वारंटाइन पीरियड को पूरा करने के बाद उन्होंने शिकार किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी चीतों की सकुशलता पर खुशी जताई है। वन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक दोनो चीतों ने रविवार और सोमवार की सुबह 6 बजे के बीच चित्तेदार हिरन या चीतल का शिकार किया है।

अंग्रेजी वेबसाइट इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक फ्रेडी और एल्टन चीतों की पहली जोड़ी हैं जिनका 50 दिनों का  क्वारंटाइन पीरियड पूरा होने के बाद उन्हें पांच नवंबर को बड़े बाडे में छोड़ा गया था। वन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक 24 घंटो के भीतर इन चीतों ने शिकार किया है ये हमारी उम्मीदों से परे है। ये चीते एकदम तंदरुस्त हैं,  क्वारंटाइन में रहने की वजह से इन मांसपेशियों में खिचाव या अन्य समस्या आने की चिंता करना एकदम गलत है।

इस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी अपनी खुशी जहिर करते हुए ट्वीट किया, "अनिवार्य क्वारंटाइन के बाद, 2 चीतों को कुनो निवास स्थान में और अनुकूलन के लिए एक बड़े बाड़े में छोड़ दिया गया है। अन्य को जल्द ही रिहा कर दिया जाएगा। मुझे यह जानकर भी खुशी हुई कि सभी चीते स्वस्थ हैं, सक्रिय हैं और अच्छी तरह से तालमेल बिठा रहे हैं।"

फ्रेडी और एल्टन पहले दो चीते हैं जिन्हें क्वारंटाइन से मुक्त किया गया है। इसके बाद पांच अन्य चीतों को भी छोडा जाना है। लेकिन उन्हें रिहा करने से पहले वन विभाग इन दोनों की निगरानी सेटेलाइट और कैमरों की मदद से कर रहे हैं। दो दिन तक इनकी ये निगरानी की जानी है। इसके बाद अधिकारियों की निगाह मादा चिता आशा की तरफ है, उसके गर्भवती होने का भी अंदेशा है। 10 नवंबर को वन विभाग की आशा को बड़े बाड़े में छोड़ने की योजना है।

T20 World Cup: भारत और पाकिस्तान एक साथ सेमीफाइनल में, दोनों में फाईनल होने की उम्मीद

1947 में भारत की इस भूमी पर आखरी चीता भी मर गया था, जिसके बाद 1952 में भारत में पूरी तरह से चीतों के विलुप्त होने की घोषणा कर दी गई थी। भारत में विलुप्त हुई इस प्रजाती को फिर से बसाने के लिए नामीबिया से इन्हें लाने की योजना बनाई गई थी। जिसके तहत प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर इसी वर्ष इन्हें लाया गया था। जिसमें पांच मादा और तीन नर चीते शामिल हैं।

एलन मस्क ने बताया भारतीयों को ट्वीटर ब्लू टिक के लिए इस दिन से देना होगा चार्ज!

ताजा खबरें