वार्ता से भी नहीं बनी बात, आखिर क्या है भारत-चीन सीमा का हाल?

भारत ने कहीं भी एलएसी को बदलने का प्रयास नहीं किया। जो भी पोजिशन भारतीय सेनाओं ने ली है। वह चीन के गैर-जरूरी औक आक्रमक मूवमेंट के जवाब में की गई हैं। आपको बता दें कि अभी तक चीनी सेना से कंमाडर लेवल की बातचीत का कोई हल नहीं निकल पाया है।

Updated On: Sep 15, 2020 17:54 IST

Dastak Web Team

प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Source: Google)

कुछ दिन पहले मॉस्को में चीन और भारत के विदेश मंत्रियों के बीच हुई बातचीत का कोई ठोस परिणाम नजर नहीं आ रहा है। पिछले कई महीनों से बॉर्डर पर जो हालात बने हुए हैं। वो किस तरह ठीक होंगे, कुछ कहा नहीं जा सकता। मॉस्कों में विदेश मंत्री स्तर की बातचीत में कई चीजों पर सहमति बनी थी। जिसके बाद कयास लगाए जा रहे थे, कि सीमा पर हालात अब काबू में आ जाएंगे पर असल में एलएसी पर जो तनाव बना हुआ है उससे कुछ भी कह पाना मुश्किल है।

POCO M2 की भारत में शुरू हुई पहली सेल, कम कीमत में मिलेंगे ये दमदार फीचर्स

LAC पर परिस्तिथियों में कोई परिवर्तन नहीं 

एक सरकारी सूत्र के अनुसार वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर स्तिथियों में कोई परिवर्तन नहीं आया है। सूत्रों का कहना है कि एलएसी पर शांति बनी हुई है। चीनी सेना द्वारा कोई बढ़ा मूवमेंट नहीं किया गया है। इसके अलावा चीनी सेना ने सैनिकों और हथियारों की तैनाती में भी कोई बदलाव नहीं देखा गया है। हालाकि अभी बिर्गेड स्तर की बैठक भी होने की संभावना हैं। हमारी प्राथमिकता है कि सभी मुद्दों को बातचीत के द्वारा ही सुलझाएं जाएं। कमांडर लेवल की बातचीत के बाद निर्धारित सहमति से ही चीनी सेनाओं के पीछे हटाने की प्रक्रिया का रूख स्पष्ट किया जा सकता है।

सूत्रों ने आगे कहा कि भारत ने कहीं भी एलएसी को बदलने का प्रयास नहीं किया। जो भी पोजिशन भारतीय सेनाओं ने ली है। वह चीन के गैर-जरूरी और आक्रमक मूवमेंट के जवाब में की गई हैं। आपको बता दें कि अभी तक चीनी सेना से कंमाडर लेवल की बातचीत का कोई हल नहीं निकल पाया है।

जया बच्चन ने रवि किशन से क्यों कहा- जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैं

ताजा खबरें